बंजर जमीन पर प्राकृतिक खेती से किसान होंगे मालामाल

अगर किसान बंजर भूमि पर प्राकृतिक खेती करते हैं तो उनको बहुत अधिक मुनाफा होगा.

मध्य प्रदेश सरकार ने रासायनिक खेती को कम करने के लिए किसानों को प्राकृतिक खेती की ओर अग्रसर कर रही है.

प्राकृतिक खेती में रासायनिक खाद का प्रयोग नहीं किया जाता है.

इसमें केवल देशी खाद का ही प्रयोग किया जाता है.

इसमें केवल गोबर की खाद, बकरियों की खाद, मुर्गियों की खाद, केचुआ खाद का प्रयोग किया जाता है.

जिससे किसानों की लागत बहुत ही कम लगती है.

बंजर भूमि पर प्राकृतिक खेती के लिए 85 हजार से भी ज्यादा किसानों ने कराया पंजीकरण

अब की बार मध्य प्रदेश में 50 हजार हेक्टेयर भूमि में किसान प्राकृतिक खेती करेंगे.

प्राकृतिक कृषि का लाभ लेने तथा ऑनलाइन आवेदन करने के लिए निचे क्लिक करें