up agriculture toll-free helpline number | कृषि हेल्पलाइन नंबर उत्तर प्रदेश

किसान सहायता केंद्र नंबर 1800-180-1551 इस नंबर पर फोन करके Uttar Pradesh या भारत का कोई भी किसान खेती-बाड़ी से जुड़ी किसी भी समस्याओं के समाधान के लिए निःशुल्क में बात कर सकते है. up agriculture toll-free helpline number पर india का कोई भी किसान अपनी local language (स्थानीय भाषा)मे भी बात कर सकते है।

up agriculture toll-free helpline number

नमस्कार किसान भाइयों आज हम आपको कृषि हेल्पलाइन नंबर उत्तर प्रदेश के बारे में बताने जा रहे हैं up agriculture helpline number के माध्यम से किसानो की समस्या का समाधान तुरंत उनकी अपनी भाषा में सहायता किया जाता है.

यूपी किसान हेल्पलाइन नंबर(up agriculture toll-free helpline number release date)

भारतीय किसान अपनी समस्याओं से वंचित न रहे इसके लिए Indian Ministry of Agriculture ने किसानों की सहायता के लिए 1800-180-1551 agriculture toll free number की शुरुआत Indian government के प्रयासो के द्वारा जनवरी 2004 मे launch किया था.

kisan helpline number का उद्देश्य यह है की भारत के किसी भी राज्य का कोई भी किसान किसी भी लोकल भाषा में बेझिझक बात कर सकें.और खेती-बाड़ी, पशु-पालन, मुर्गी पालन, बागवानी या और किसी भी समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकें।

कृषि टोल फ्री नंबर के लाभ(krishi helpline number)

किसानो के लिए भारत सरकार द्वारा Kisan Call Center 1551, 1800-180-1551 शुरू करने का उद्देश्य यह है की उनको अपनी समस्या का समाधान करने की लिए “सरकारी दफ्तरों” या “कृषि रक्षा इकाई” के चक्कर न लगाने पड़े. क्योंकि बहुत से किसान भाई लोगों की सरकारी योजना या कृषि से सम्बंधित शिकायत होती है. और वह Customer Care toll-free Number के माध्यम से अपनी समस्या का समाधान और व कृषि संबन्धित जानकारी प्राप्त कर सकते है ।

इसके अलावा किसान भाई कृषि विभाग टोल फ्री नंबर 1800-180-1551 पर अपनी लोकल भाषा या हिंदी भाषा में Call करके अपनी बागवानी, फसलों से संबधित, पशु पालन संबधित, डेयरी संबधित, मुर्गी पालन सम्बंधित, मौसम जैसी कोई भी जानकारी प्राप्त कर सकते है ।

किसान कस्टमर केयर नंबर Time-Table

किसान अपनी समस्याओं तथा खेती से जुड़ी जानकारी के लिए Toll Free Number 1800-180-1551 पर निजी सेवा प्रदाताओं (private service provider) सहित सभी दूरसंचार नेटवर्क से जुड़े मोबाइल फोन और लैंडलाइन के माध्यम से बात कर सकते है।

up agriculture toll-free helpline number पर किसान अपनी शिकायत सुबह 6 बजे से लेकर रात के 10 बजे तक कर सकते हैं। up agriculture toll free number पर फोन करते ही सेवा प्रदाताओं को आपको सबसे पहले बताना होता है की आप कहाँ से बोल रहे है, आप किस राज्य से हो, आप किस जिला से हो, आप किस ब्लाक से हो यह सब जानकारी देने के बाद आपको आपके सवालों के जवाब और समस्याओं के समाधान के बारे में बताया जाता है.

इस पोस्ट में क्या है,

इस पोस्ट में किसानो की समस्या के समाधान के लिए up agriculture toll-free helpline number के बारे में बताया है. साथ ही आपको यह भी बताया गया है की किसान हेल्पलाइन नंबर उत्तर प्रदेश पर किसान अपनी शिकायत सुबह 6 बजे से लेकर रात के 10 बजे तक कर सकते हैं।

हम उम्मीद करते हैं की up kisan helpline number की यह लेख आपको अच्छी लगी होगी. यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वे भी 1800-180-1551 कृषि विभाग का टोल फ्री नंबर का लाभ ले सके।

यदि आपका किसान helpline number से सम्बन्धित कोई भी सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं. और kisan toll free number 2021 के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

kisan helpline number up, krishi helpline number up, कृषि विभाग उत्तर प्रदेश हेल्पलाइन नंबर, up agriculture customer care, kisan helpline number uttar pradesh, कृषि विभाग, उत्तर प्रदेश हेल्पलाइन नंबर, किसान टोल फ्री नंबर उत्तर प्रदेश, कृषि विभाग हेल्पलाइन नंबर up, uttar pradesh kisan helpline number, agriculture helpline number up, किसान शिकायत हेल्पलाइन नंबर, agriculture helpline toll free number, kisan toll free number up,

FAQ

किसान कॉल सेंटर हेल्पलाइन नंबर toll-free?

1551 or 1800-180-1551.

भारत में किसान कॉल सेंटर की शुरुआत कब हुई थी?

भारत सरकार के प्रयासो के द्वारा जनवरी 2004 मे लांच किया था.

किसान कॉल सेंटर पर किसानों के लिए क्या-क्या सुविधा सुविधाएं उपलब्ध हैं?

किसान भाई toll-free Customer Care Number 1800-180-1551 पर अपनी लोकल भाषा या हिंदी भाषा में Call करके अपनी बागवानी, फसलों से संबधित, पशु पालन संबधित, डेयरी संबधित, मुर्गी पालन सम्बंधित, मौसम जैसी कोई भी जानकारी तथा समस्या का निवारण प्राप्त कर सकते है ।

इसे भी पढ़ें-

harvester subsidy in up 2020-21 | कृषि यंत्रों पर अनुदान

किसान पंजीकरण स्टेटस UP

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे अप्लाई करें

Previous articlesubsidy on agriculture equipment in Uttar Pradesh | कृषि यंत्रों पर अनुदान छूट के लिए आवेदन
Next article[Real manure] असली खाद कैसे पहचाने | asli dap ki pahchan

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here