फूलों का व्यापार कैसे करें | how to start flower business

पूजा-पाठ हो या पार्टी, बर्थडे, शादी या कोई अन्य इवेंट्स इन शुभ अवसरों को और खुबसूरत बनाने के लिए फूलों की आवश्यकता पड़ती ही है.

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको फूलों का व्यापार कैसे करें(how to start a flower shop business) और फूलों का ब्यवसाय करके पैसे कैसे कमायें तथा फूलों का ब्यापार क्यों करनी चाहिए, इसके बारे में बिस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं. अगर आप भी फूलों का बिजनेस करके पैसा कमाना चाहते हैं तो इस पोस्ट को जरुर पढ़ें. यदि यह पोस्ट आपको अच्छी लगे तो इसे शेयर जरुर करें.

Contents hide

फूलों का व्यापार कैसे करें(how to start flower business)

फूलों का बिजनेस करने के लिए सबसे पहले आपको अपने क्षेत्र में एक दुकान खोलने की आवश्यकता होगी जहाँ पर आप फूलों को मंडी से खरीदने के बाद स्टोर करेंगे. और इस ब्यापार को करने के लिए आपको अपने दुकान में सभी तरह के फूल जैसे-गेंदा का गजरा, बेला के फूल, गुलाब, जयमाल, गुड़हल इत्यादि फूलों के मेल रखने होंगे ताकि कोई भी ग्राहक आपके दुकान से खाली वापस न जा सके.

यदि हो सके तो आप ऐसे मार्किट में दुकान खोने जहाँ मार्केट बड़ा हो तथा उसके आस-पास कोई मंदिर हो इससे आप मंदिरों पर भी फूलों को बेच सकेंगे. फूलों के ब्यवसाय से और अधिक पैसा कमाने के लिए आप रंग बिरंगे फूलों को एक साथ अच्छे डिजाईन में गुलदस्ता बनाकर अधिक क़ीमत पर बेच सकते हैं.

शादी-विवाह में फूलों के सजावट का काम(gadi ki sajawat)

गर्मियों तथा सर्दियों के मौसम में शादी-विवाह में फूलों की मांग बढ़ जाती है. इन दिनों आप शादी-विवाह में आर्डर लेकर स्टेज सजाने, मंडप सजाने, सेज सजाने तथा गाड़ियों को सजाने के लिए गाड़ियों पर लगने वाले फूल का काम करके अच्छा लाभ कमा सकते है.शादी के सीजन में फूलों की मांग इतनी बढ़ जाती है की इस ब्यवसाय से किसान और फूलों का ब्यापार करने वाले व्यापारी दोनों मालामाल हो जाते है.

बाजार में दुकानों पर आर्डर लें(Take orders at shops in the market)

आपके क्षेत्र में प्रत्येक दुकानों के दुकानदार सुबह के समय पूजा करते हैं और उनको भी फूलों की आवश्यकता होती है तो आप उनसे भी संपर्क करके फूलों की छोटी-छोटी माला बनाकर सुबह के समय फूलों की डिलीवरी करके एक अच्छे ब्यवसाय की शुरुआत कर सकते है.

मंदिरों के पास फूलों का ब्यवसाय(Flower business near temples)

मंदिर हो या मस्जिद हो ऐसे स्थानों पर श्रद्धालु अक्सर पूजा करने आते रहते हैं ऐसे में उनको नारियल, चुनरी के साथ फूलों की आवश्यकता पड़ती है. तो इस आलोक डाउन में किसी भी मंदिर के पास फूलों की माला बनाकर उन्हें बेचकर अच्छा लाभ कमा सकते हैं.

यदि आप मंदिर पर फूलों का ब्यापार करना चाहते हैं तो इन स्थानों पर सोमवार, मंगलवार तथा शनिवार के दिन गेंदा तथा गुड़हल के फूलों की बिक्री अधिक होती है. तथा इसके आलावा नवरात्रि, दीवाली तथा अन्य हिन्दू त्योहारों पर फूलों की मांग इतनी बढ़ जाती है की मंडियों में फूल नहीं मिलते और बहुत ऊँचे दामों पर बिकते हैं.

यदि आप किसी मस्जिद पर फूलों का ब्यवसाय करना चाहते हैं तो इन स्थानों पर गुरुवार को गुलाब तथा सफ़ेद फूल जैसे बेला, तेंगरी आदि फूल अधिक बिकते है. बहुत से लोग फूलो से मंदिर की सजावट(mandir decoration with flowers) के लिए फूल खरीदने आते हैं. ऐसे में मंदिरों के पास भी फूलों का व्यापार शुरू किया जा सकता है.

चौराहों या पेट्रोल पम्पों पर(at intersections or petrol pumps)

चौराहों या पेट्रोल पम्पों पर बहुत से लोगों की भीड़ इकट्ठा होती रहती है और बहुत से लोग अपने वाहनों पर फूलों की माला लेकर चढ़ाते हैं ऐसे में आप अपने क्षेत्र के किसी भी चौराहों या पेट्रोल पम्पों फूलों का बिजनेस करके लाभ प्राप्त कर सकते है.

कॉलोनी या किसी गाँव के मुख्य द्वार पर(main gate of the colony or village)

यदि आप शहर के किसी कालोनी या गाँव के मुख्य द्वार पर फूल बेचने का व्यापार करते हैं तो इन स्थानों पर भी आप बड़ी मात्रा में फूल बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. क्योंकि गाँव या कालोनी में भी बहुत से लोग रोज पूजा-पाठ करते हैं.ऐसे में उनको फूलों की आवश्यकता पड़ती है.

फूलों के ब्यवसाय में लागत( marigold flower decoration)

फूलों के बिजनेस में लगने वाली इस पर निर्भर करता है की आप किस तरह के फूल का ब्यवसाय करेंगे जैसे-

1. गेंदा फूल का व्यापार( marigold flower decoration for wedding)

यदि आप केवल गेंदा फूल का ब्यापार करना चाहते हैं तो आप इस बिजनेस की शुरुआत 2000रूपये से लेकर 5000रूपये में कर सकते हैं. और इसके भाव की बात करें तो दीपावली, नवरात्रि तथा अन्य हिन्दू धार्मिक त्योहारों पर genda phool mala की कीमत 10रूपये से लेकर 35रूपये प्रति गजरा या इससे भी अधिक महंगे मिलते हैं. इसके अलावा कभी-कभी 1रूपये से लेकर 8 रूपये प्रति गजरा भी मिलते हैं.

इस प्रकार यदि आप 10 रूपये प्रति गजरा के भाव से गेंदा लेते हैं तो 2000 रूपये में 200 गजरा तथा 5000 रूपये में 500 गजरा खरीद सकेंगे. और इसमें प्रोफिट की बात करें तो दीपावली, नवरात्रि तथा अन्य हिन्दू धार्मिक त्योहारों पर प्रति गजरा 8 रूपये से लेकर 15 रूपये या इससे भी अधिक की मार्जिन/लाभ होता है.

वहीँ यदि कोई भी हिन्दू धार्मिक त्योहार न हो फिर भी प्रति गजरा 4 रूपये से लेकर 6 रूपये तक का मुनाफा होता है.

2. गुलाब के फूल का व्यापार(rose flower business)

अगर आप केवल गुलाब के फूलों का बिजनेस करना चाहते हैं तो इसके साथ आपको सफ़ेद फूल जैसे बेला और तेंगरी जैसे और भी फूलों को साथ में रखना होगा. इनकी भी शुरुआत आप 2000 रूपये में कर सकते है. इनकी की मंडियों में कीमत त्योहारों तथा विवाह जैसे शुभ मुहुर्त्तों पर 40 रूपये से लेकर 100 रूपये प्रति किलो या 2 रूपये से लेकर 10 रूपये प्रति पीस या इससे भी महंगे मिलते हैं.

3. गुलदस्ता बनाने का व्यापार(guldasta banane wala business)

फूलों का ब्यापार शुरू करके लाखों रूपये कमाने के लिए आपको अपने दुकान या शॉप में सभी तरह का फूल रखना होगा तथा शादी-विवाह में आर्डर लेने, स्टेज सजाने, मंडप सजाने, सेज सजाने, गाड़ियों को सजाने, गुलदस्ता बनाने से लेकर फूलों से सम्बंधित बिजनेस करना होगा.

यदि आप फूलों के बिजनेस में guldasta banane wala व्यापार शुरू करना चाहते हैं तो आपको 10000 रूपये से लेकर 25000 रूपये लागत लगाने की आवश्यकता होगी. इस प्रकार अगर आप सभी तरह के फूलों का बिजनेस शुरु करना चाहते हैं तो आपको 20000 रूपये से 50000 रूपये लागत लगानी होगी.

फूलों के व्यापार से होने वाला मुनाफा(profit from flower business)

यदि आप बाजार में दुकानों पर आर्डर लेकर, चौराहों या पेट्रोल पम्पों पर, कॉलोनी या किसी गाँव के मुख्य द्वार पर इनमें से किसी एक जगह फूल बेचने का व्यवसाय करते हैं, तो आप बड़ी ही आसानी से प्रतिदिन के 400 से 700 रुपए या इनसे भी अधिक की कमाई कर सकते हैं. इसके अलावा अगर आप मंदिरों के पास फूलों का व्यापार करते हैं तो 700 रूपये से लेकर 1500 रुपए कमा सकते है.

और यदि आप शादी-विवाह में फूलों के सजावट का काम जैसे- स्टेज डेकोरेट, मंडप डेकोरेट, दुल्हे की गाड़ी सजाना, घर सजाना या सेज सजाने का आर्डर लेते हैं तो इसमे आप एक साईट से (एक दिन के आर्डर से) 4000 से लेकर 15000 हजार रूपये की कमाई कर सकते है. आपको बता दें की शादी के सीजन में शुभ लग्न तेज होने पर बहुत से लोग एक दिन में 3 से 5 या इससे भी अधिक आर्डर लेकर 20 हजार से लेकर 50 हजार रूपये की कमाई करते हैं.

यदि आपका फूलों का व्यवसाय और बड़े लेवल पर पहुंच जाता है, तो आप फूलों के इस व्यापार से लाखों की कमाई बड़ी आसानी से कर सकते हैं.

फूलों के व्यवसाय में जोखिम(risk in flower business)

मंडियों से फूल खरीदते समय इस बात का ध्यान रखें की हमेशा अच्छी और बेहतर क्वालिटी के ही फूलों को खरीदें. और उतने ही फूलों की मार्केटिंग करें जीतनी आप बेच सकते है और यदि आप फूलों को मंडप सजाने, स्टेज सजाने या अन्य किसी डेकोरेशन के लिए खरीदते हैं तो उतने ही खरीदें जितनी आवश्यकता हो. क्योंकि फूलों को 2 दिन से ज्यादा नहीं रखा जा सकता है.

अगर आप 2 इन से अधिक रकने की कोशिश करेंगे तो इसमें काले दाग बनने लगेंगे और इससे आपको बहुत अधिक नुकसान हो सकता है. यदि आपके दुकान या शॉप पर फूल बचने की सम्भावना हो तो सफ़ेद रंग के फूलों को जल्दी से बेचने की कोशिश करें. क्योंकि सफ़ेद कलर के फूलों में अन्य कलर के फूलों की अपेच्छा बहुत जल्दी दाग बनते हैं.

लोग किस काम के लिए फूल खरीदते हैं

लोग फूलों की खरीदारी शादी विवाह में gari sajawat के लिए, स्टेज सजावट, मदिर सजाने, भगवान को चढ़ाने, इत्यादि कार्यों में उपयोग के लिए फूल खरीदते हैं.

क्या है इस पोस्ट में

आज के इस आर्टिकल में हमने आपको बताया की फूलों का व्यापार कैसे करें और फूलों का ब्यवसाय करके लाखों की कमाई कैसे करें. साथ ही यह भी बताया गया है की फूलों का ब्यवसाय कहाँ करें, कैसे करे, इनसे क्या लाभ है, फूलों के व्यवसाय से कमाई और यदि फूलों का ब्यवसाय करते हैं तो इसके क्या जोखिम हो सकते है.

हम आशा करते हैं की फूलों के ब्यवसाय की यह जानकरी आपको अच्छी लगी होगी यदि आपको यह जानकरी अच्छी लगी हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ साझा जरुर करें धन्यवाद.

FAQ

फूलों की दुकान के लिए जगह कहां चुनें ?

मंदिर के पास, गाँव या कालोनी के गेट के पास, चौराहों के पास.

फूलों की दुकान में कितनी लागत लगेगी ?

छोटे व्यापार के लिए 5 से 8 हजार तथा बड़े ब्यापार की शुरुआत के लिए 20 से 50 हजार रूपये.

फूलों की दुकान से कितना कमाया जा सकता है ?

30 से 80 हजार एक महीने में .

यह भी पढ़ें-

मधुमक्खी पालन व्यवसाय कैसे करते हैं

वेजिटेबल(सब्जी) व्यापार की जानकारी

व्यापार की समस्या के समाधान के लिए हेल्पलाइन नम्बर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version