हाइब्रिड सागौन की खेती | sagwan ki kheti

दोस्तों आपने सागवान का नाम तो सुना ही होगा सभी पौधों में सागवान के पौधे की कीमत ही सबसे महंगे कीमत में बिकते हैं. सागवान का पौधा एक ऐसा पौधा है जिसमें दीमक नहीं लगती है. और इसकी लकड़ी बाकि पौधों की तुलना में काफी हल्की होती है और यह इतनी मजबूत होती है की इसकी मजबूती सालों बरकरार रहती है.

sagwan ki kheti

सागवान को इमारती लकड़ी का राजा भी कहा जाता है, इसके पेड़ की लंबाई 70 से 100 फीट होती है. बहुत से स्थानों पर इस पौधे को सागौन, शाक, टीकवुड के नाम से भी जाना जाता है. सागौन के अनेक अच्छे गुण होने के कारण sagwan ki kheti अब गाँव और शहर में भी की जाने लगी है.

सागवान की खेती(sagwan ki kheti)

sagwan ki kheti केवल आधिक ठंढ प्रदेशों के अलावा सभी जगह किया जा सकता है. सागवान की खेती में मेहनत बहुत ही कम और कमाई बहुत अधिक होती है. दोस्तों आज हम आपको बहुत ही कम खर्च में sagwan ki kheti kaise karen इसी के बारे में ऐसी विधि बताने जा रहे हैं जिससे आप हाइब्रिड सागौन की खेती की साथ-साथ सब्जियों और फूलों की भी खेती कर सकते हैं.

यदि आप सागवान की खेती के साथ खेतीबाड़ी भी करना चाहते हैं तो अपने खेत के चारो ओर 7 से 8 फीट की दूरी पर sagwan ke ped को जून- जुलाई के महीनों में लगायें इस विधि से sagwan ke ped लगाने से आपको पौधों की अधिक देखरेख नहीं करनी पड़ेगी. और आप जो खाद तथा पानी अपनी फसलों को देंगे उसी से सागवान के पौधे की ग्रोथ भी होती रहेगी.

इस प्रकार अगर आप अपने खेत के चारों तरफ किनारों पर खेत की मेड़ पर सागौन का पेड़ लगाते हैं तो 1 एकड़ प्लांट के चारो और लगभग 100 से 120 sagwan ke ped लगा सकते हैं.

sagwan के इमारती लकड़ी का उपयोग

सागवान इसकी लकड़ी हल्की और मजबूत होती है। इसकी खेती किसानों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होती है. sagwan के इमारती लकड़ी का उपयोग पलंग बनाने, कुर्सी बनाने, घरों में दरवाजा और खिड़की बनाने, रेल के डिब्बे बनाने, हवाई जहाज बनाने, दुकानों में काउंटर बनाने इत्यादि कार्यों में sagwan के इमारती लकड़ी का उपयोग किया जाता है.

खेत की मेड़ पर सागौन की खेती से लाभ

खेत के चारो ओर खेत की मेड़ sagwan ke ped लगाने से आपको अलग से खरपतवार नियंत्रण करने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी. क्योंकि आप जब भी अपनी फसलों से खरपतवार निकालेंगे तो उसी समय सागवान के पौधे की भी खरपतवार नियंत्रण हो जाएगी. इसी तरह इसके पौधे को आलग से खाद और पानी देने की आवश्यकता नहीं होगी.

खेत की मेड़ पर सागौन के पेड़ लगाने की विधि

खेत की मेड़ पर सागौन का पेड़ लगाने के लिए गर्मियों के मौसम में अपने खेत के चारो ओर 7 से 8 फीट की दूरी पर गड्ढ़े की खुदाई करके छोड़ देनी चाहिए जिससे पौधों की जड़ों को हानि पहुचाने वाले सभी हनिकारक कीट नष्ट हो जाएँ. इसके बाद जून- जुलाई के महीनों में बारिश के समय प्रत्येक गड्ढ़े में अच्छी सड़ी हुई गोबर की खाद डाल दें.

फिर सभी गड्ढों में एक छोटी चम्मच फ्यूरडान या रीजेंट डालकर sagwan ke ped को लगायें. और रोपाई करने के तुरंत बाद सिंचाई अवश्य करें.

सागौन के पेड़ में लागत एवं मुनाफा

यदि आप खेत की मेड़ पर सागौन के पेड़ लगाते हैं तो आपको एक हाइब्रिड sagwan ke ped 80 से 100 रुपये में मिल जायेंगे. उर अगर 1 एक खेत की मेड पर 120 पेड़ लागत हैं तो 100 रुपये प्रति पेड़ के हिसाब से 12 हजार रुपये आपकी लागत आएगी.

अब अगर एक एकड़ खेत की मेड़ पर सागौन के पेड़ की लागत की बात करें तो इसमें आपकी कोई अलग से लागत लगने वाली नहीं है क्योंकि जब आप अपने फसलों को खाद और पानी देंगे तो उसी से इस सागौन के पौधों का भी विकास होगा. इसमें आपको केवल समय-समय पर sagwan ke ped की फालतू शाखाओं की छंटाई करनी होगी.

FAQ

Q. सागवान का पेड़ कितने रुपए में बिकता है?

ANS. 10 से 15 वर्षों में सागवान के पेड़ की कीमत 25 से 40 हजार रुपये तक होती है. और अधिक पुराने पेड़ की कीमत और भी महंगी होती है.

Q. सागौन का पेड़ कितने दिन में तैयार हो जाता है?

ANS. सागौन का पेड़ 15 से 30 साल में तैयार होता है.

इसे भी पढ़ें.

खेती में उपयोग होने वाला यंत्र

टमाटर में फल फूल की दवा

गेंदा फूल की खेती कैसे करे

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version