Home खेती-किसानी Sabse jald taiyar hone Wali Fasal

Sabse jald taiyar hone Wali Fasal

Sabse jald taiyar hone Wali Fasal- भारत को कृषि प्रधान देश यूँ ही नहीं कहा जाता है. आज के समय भी गाँव में रहने वाले अधिकतर लोग अपनी आजीविका चलाने के लिए खेतीबाड़ी पर निर्भर हैं.

किसान भाइयों का निरंतर प्रयास रहता है की कम समय में अधिक फसल उगाना, और अधिक फसलें आएँगी तो मुनाफा भी अधिक होगा. ऐसे में किसान भाइयों को सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल(Sabse jald taiyar hone Wali Fasal) लगानी चाहिए.

नमस्कार किसान भाइयों आज के इस आर्टिक्ल में हम जानेंगे की सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल कौन सी है. कम समय में अच्छा मुनाफा कमाने के लिए Sabse jald taiyar hone Wali Fasal काफी मायने रखता है. तो दोस्तों आइए इस आर्टिक्ल के माध्यम से हम जानेंगे की सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल कौन सी है.

सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल(Sabse jald taiyar hone Wali Fasal)

मूली की फसल

मूली सब्जियों की खेती है. यह पुरे वर्ष उगाई जाने वाली सब्जी की फसल है. बुआई के 50 दिन बाद यह मंडियों में बेचने के लिए तैयार हो जाती है. अतः मुली की फसल सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल है. इसकी पत्तियां साग बनाने के काम आती हैं और इनके जड़ यानि कन्द से सब्जियां तो बनती ही है. साथ ही सलाद या रायता बनाया जाता है.

खरबूजा की खेती

Sabse jald taiyar hone Wali Fasal में खरबूजा की फसल को भी किसान उगाने से नहीं चुकते हैं. खरबूजा की फसल साल में केवल एक बार गर्मियों में उगाई जाती है. खाने में यह बहुत ही स्वादिष्ट लगता है. दूर से ही इसकी महक आते ही मुह में पानी आ जाता है. इसकी एक खास बात यह है की इसमे सिंचाई की आवश्यकता बहोत कम पड़ती है. अतः खरबूजा की खेती करके किसान मालामाल हो सकते हैं.

यह भी पढ़ें- गर्मी में गेंदा फूल की खेती

खीरा की खेती

खीरा बरसात तथा गर्मियों में उगाई जाने वाली फसल है. खीर की फसल भी सबसे जल्द तैयार होने वाली फसल है. यह अधिक सर्दी को सहन नहीं कर पाती है. अक्सर लोग खाना खाने के बाद सलाद के रूप में खीरा का उपयोग करते हैं. यह कम समय में बहोत अधिक पैदावार देने वाली फसल है.

ककड़ी और तरबूज की फसल

यह भी केवल गर्मियों में उगाई जाती है. ककडी और तरबूज की खेती के लिए गर्म जलवायु की आवश्यकता होती है. इसलिए गर्मियों का मौसम इनकी खेती के लिए अनुकूल होता है.

धनियाँ की फसल

बुआई करने के 50 दिन के बाद धनियाँ मंडियों में बेचने के लिए तैयार हो जाती है. धनियाँ की फसल की खेती, खेतों में तो होतु ही है. साथ धनियाँ घर पर ही गमले में भी उगाया जा सकता है. धनियाँ में रोग और कीट तो कम लगते ही हैं साथ ही इसमें सिंचाई बहुत कम लगती हैं. इसकी खेती गर्मी तथा बरसात में की जाती है.

पालक की खेती

पालक की खेती भी Sabse jald taiyar hone Wali Fasal है. यह भी बुआई के 50 दिन बाद कटाई के लिए तैयार हो जाती हैं. इसके हाइब्रिड बीजों की बुआई करके 2 से 3 बार कटाई करके इसके हरे पत्तियों को मंडियों में बेचा जाता है. या पुरे वर्ष उगाई जाने वाली फसल है.

FAQ:

Q: सबसे ज्यादा मुनाफा देने वाली फसल?

ANS: चावल, मक्का, सरसों, चाय, गन्ना, बांस, रहर, मटर की दाल इत्यादि.

Q: सबसे कम पानी की फसल कौन सी है?

ANS: गेहूं, सरसों, चना, जौ, मक्का, उर्द, मसूर, रहर.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version