किसान पुरे वर्ष लगायें ये 3 सब्जियाँ हो जायेंगे मालामाल

पुरे वर्ष लगायें ये 3 सब्जियाँ- सभी सब्जियों को उगाने का कोई न कोई अपना एक मौसम, क्षेत्र और जलवायु होता है. अनुकूल मौसम में उगाई गई सब्जियों में रोग और कीट तो कम लगते ही हैं साथ ही पैदावार भी अधिक होती है. लेकिन कुछ सब्जियाँ ऐसी भी होती हैं जो पुरे साल किसी भी मौसम या किसी भी महीने में लगाई जा सकती है. जैसे- मूली, पालकी, और बैंगन इन सब्जियों को बारहमासी सब्जियाँ भी कहते हैं.

मूली, पालकी, और बैंगन ये 3 ऐसी सब्जियाँ हैं जिन्हें किसान किसी भी समय और किसी भी महीने में लगारकर इन्हें मंडियों में बेचकर पैसे कमा सकते हैं. और मंडियों में इनकी डिमांड भी हमेशा बनी रहती है. तो दोस्तों चलिए इन सब्जियों के बारें में विस्तार से जानते हैं.

किसान पुरे वर्ष लगायें ये 3 सब्जियाँ हो जायेंगे मालामाल

मूली की खेती

मूली एक ऐसी जड़ वाली सब्जी है जिसकी पत्तियां और कंदमूल दोनों खाने के लिए उपयोग होते हैं. इसे जनवरी से लेकर दिसंबर तक किसी भी महीने में इसकी बुआई करके बहुत आसानी से उगाया जा सकता है. मूली की खेती में लागत बहुत कम लगती है.

मूली की खेती को बरसात से नुकसान होता है. यह अधिक नमी को सहन नहीं कर पाती है. मूली के खेत में अधिक जलभराव होने से इनके जड़ें सड़ने लगती हैं. इसलिए अगर बरसात में मूली की खेती करने जा रहे हैं तो इस बात का ध्यान रखना चाहिए की ऊँचे जलनिकास वाली भूमि का चयन करना चाहिए. मूली की खेती के बारे में अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें.

पालक की खेती

यह पत्तेदार सब्जी है, इसका उपयोग सुखसाग बनाने, दाल बनाने, पकौड़ी बनाने में किया जाता है. मूली की तरह पालक की खेती भी पुरे वर्ष किया जाता है. यह भी एक प्रकार का बारहमासी पत्तेवाली सब्जी है. पालक की खेती सबसे सस्ती खेती है इसमें लागत बहुत ही कम लगती है.
पालकी की खेती की सबसे अच्छी खासियत यह होती है की इसे एक बार खेत में बोने के बाद 5 से 6 बार इसकी कटाई करके मंडियों में इसके साग बेचकर पैसे कमाए जाते है.

इसकी प्रत्येक कटाई के बाद यूरिया का छिड़काव करना होता है. लेकिन पालक भी बरसात को सहन नहीं कर पाती है. इसलिए इसे भी बारिश के मौसम में ऊँचे जलनिकास वाली भूमि में बोनी चाहिए. पालक की बढ़वार बहुत तेजी से होती है इसलिए इसकी बुआई छोटी छोटी क्यारियाँ बनाकर कुछ दिनों के अंतराल पर करनी चाहिए.

बैंगन की खेती

बैंगन एक बारहमासी सब्जी है इसे भी पुरे वर्ष कभी भी, किसी मौसम में लगाकर अच्छी आमदनी कमाई जा सकती है. बैंगन के बीज बहुत छोटे होते हैं इसलिए सबसे पहले इसकी नर्सरी तैयार की जाती है. इसके बाद इसके पौधे की खेतों में उचित लाइन में रोपाई की जाती है.

बैंगन की खेती एक बार लगाने के बाद 6 से 7 महीने तक उपज देती है. इसकी खेती बहुत लम्बे समय पैदावार देती है इसलिए बैंगन की खेती करके किसान पुरे वर्ष यानि 12 महीने पैसा कमा सकते हैं.

तो दोस्तों अगर आपको यह छोटी सी पोस्ट अच्छी लगे तो इसे लाइक और शेयर करें, तथा ऐसे ही खेतीबाड़ी से जुड़ी अन्य जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट upagriculture.in पर विजित करें.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here