किसान लगायें ये 10 सब्जियाँ, नहीं होगा नीलगाय और आवारा पशुओं से नुकसान, जानें वजह

किसान लगायें ये 10 सब्जियाँ, नहीं होगा नीलगाय और आवारा पशुओं से नुकसान, जानें वजह

गाजर ,शलजम, मूली, प्याज, चुकंदर, लहसुन, अदरक, सूरन, हल्दी, अरबी ये 10 प्रकार की ऐसी सब्जियाँ हैं, जिन्हें अगर किसान अपने खेतों में लगाते हैं तो नीलगाय और आवारा पशुओं से इन सब्जियों को कोई नुकसान नहीं होता है.

किसान बहुत मेहनत करके घर की पूंजी लगाकर खेती करते हैं. लेकिन यह कोई निश्चित नहीं होता है की किसान के द्वारा लगाये गए उस फसल में कितनी ऊपज होगी और उसे मंडियों में बेचने के बाद उससे कितनी आमदनी होगी. इसका सबसे बड़ा कारण यह है की फसलों की बुआई से लेकर कटाई तक फसलों को कई तरह के मुसिबतों से गुजरना पड़ता है.

ऐसे में किसान नीलगाय को खेतों की ओर आने से रोकने के लिए तरह-तरह के उपयोग करते हैं, यहाँ तक की नीलगाय जानवरों से खेत की सुरक्षा के लिए रात को जब पूरी दुनिया चैन की नींद सोता है तो किसान पूरी रात जागकर फसलों को नीलगाय, पालतू पशु और अन्य जानवरों से बचाने के लिए खेत में पहरा देते हैं.

ऐसे में आवारा पशुओं और नीलगाय से फसल को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए हमने 10 ऐसी सब्जियों की खेती का एक निचोड़ निकाला है की यदि किसान भाई इस आर्टिकल में बताये गए 10 फसलों में से किसी भी फसल की खेती करते हैं तो 100% उनकी फसलों को किसी भी जंगली जानवर या और पशुओं से नुकसान नहीं होगा. तो दोस्तों चलिए जानते हैं की इन 10 फसलों की असली वजह क्या है.

फसलों को कैसे होता है नुकसान

खेतों में लगे किसानों के फसलों को कई तरह से नुकसान होने की सम्भावना होती है, जैसे- आंधी तूफान से फसलों को नुकसान, बेमौसम बारिश से नुकसान, समय से बारिश न होने की वजह, रोग और कीटों का अधिक प्रकोप और यदि इन सबसे किसी तरह फसल बच भी जाये तो नीलगाय जो आज के समय किसानों का सबसे बड़ा शत्रु बन गए हैं. इनसे फसलों को बचाना मुश्किल हो गया है.

इन 10 फसलों को नहीं होगा नीलगाय और आवारा पशुओं से नुकसान जानें वजह

गाजर ,शलजम, मूली, प्याज, चुकंदर, लहसुन, अदरक, सूरन, हल्दी, अरबी हम इन्हीं उन 10 सब्जियों की बात कर रहे थे, जिसकी अगर किसान खेती करते हैं तो इन फसलों को आवारा पशुओं, पालतू पशुओं और नीलगाय से कोई भी नुकसान नहीं होगा. इसका सबसे मुख्य वजह यह है की ये फसलें जमीन के अन्दर उगाई जाती हैं. ऐसे में इन फसलों को नीलगाय और पालतू पशु जैसे- भेड़, बकरियाँ, गाय, भैंस इसे छू भी नहीं सकते हैं.

यह भी पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here