केसीसी को लेकर सरकार हुई सख्त, किसानों को नहीं लगाने पड़ेंगे बैंकों के चक्कर, पढ़ें पूरी खबर

केसीसी को लेकर सरकार हुई सख्त, किसानों को नहीं लगाने पड़ेंगे बैंकों के चक्कर, KCC card will be made within 15 days

केसीसी यानि किसान क्रेडिट कार्ड के जरिये किसानों को उनकी जमीन की एक निश्चित सीमा के अंतर्गत बैंक से बहुत ही कम ब्याज दर पर लोन दिया जाता है. जिसमें सरकार किसानों की आर्थिक सहायता के लिए किसानों द्वारा लिए गए लोन पर 2% की सब्सिडी भी देती है. किसानों को बैंक से लोन लेने के लिए उनके पास केसीसी कार्ड होना चाहिए.

अब तो किसान क्रेडिटकार्ड बनवाने के लिए सरकार भी किसानों का साथ दे रही है. जहाँ पहले केसीसी कार्ड बनवाने के लिए किसानों को महीनो तक बैंक के चक्कर लगाने पड़ते थे. इसके बावजूद भी कार्ड नहीं बन पाता था. लेकिन अब सरकार ने अधिकारियों को निर्देश दिया है. की अगर केसीसी फार्म में कोई गड़बड़ी होती है. तो बैंक को केसीसी फार्म रिजेक्ट करने से पहले किसानों को बतलाना होगा. और फार्म में सुधार करके उसे फिर से प्रस्तुत किया जाय.

तो दोस्तों आज हम आपको किसान क्रेडिट कार्ड को लेकर सरकार द्वारा सख्त कुछ महत्पूर्ण दिशा निर्देश के बारे में बताने जा रहे हैं. अगर आप इस पोस्ट को पढ़ रहे हैं तथा आप एक किसान हैं और किसान क्रेडिट कार्ड बनवाना चाहते हैं तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है. अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

केसीसी को लेकर सरकार सख्त ने अधिकारियों को दिए निर्देश

किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए किसानों को सभी दस्तावेज लेकर बेंक में जाना होता है. वहाँ पर बहुत से किसानों का केसीसी फार्म किसी दस्तावेज की कमी के कारण रिजेक्ट कर दिया जाता था और किसानों को इसकी सूचना भी नहीं दी जाती थी लेकिन अब सरकार केसीसी को लेकर सरकार बैंक को सख्त निर्देश देते हुए कहा है की अब बैंक अधिकारियों को केसीसी फार्म रिजेक्ट करने पर किसानों को बतलाना होगा की फार्म में क्या कमी है. और यह किस कारण रिजेक्ट किया गया है. और उस किसान का केसीसी कार्ड क्यों नहीं बन सकता है. सरकार के इस निर्देश से अब किसानों को बैंक के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे. और केसीसी फार्म में हुई गलती को सुधार करके फिर से उसे अप्लाई किया जा सकेगा.

15 दिन के अंदर बैंक को जरी करना होगा केसीसी कार्ड

अक्सर देखा जाता था की किसानों को किसान क्रेडिटकार्ड बनवाने के लिए महीनो तक बैंक के चक्कर लगाने के बाद भी केसीसी कार्ड नहीं मिल पाता था. जिससे किसानों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था. लेकिन अब केंद्र सरकार ने केसीसी जारी करने वाले सभी बैंकों को सख्त निर्देश देते हुए कहा हैं की, 15 दिन के अन्दर केसीसी कार्ड जारी कर दिया जाये.

केसीसी कार्ड के लाभ

  • किसानों को 7 फीसदी ब्याज पर बैंक ले लोन दिया जाता है.
  • समय से लोन चुकाने पर ब्याज में 3 फीसदी और छोट दी जाती है. जिससे किसानों को 4% ब्याज देना होता है.
  • केसीसी कार्ड को किसान प्रमाण पत्र के तौर पर भी उपयोग कर सकते हैं.
  • खेती करने वाले किसानों, पशुपालकों, मछली पालक, मुर्गीपालन, बकरी पालन ये सब केसीसी कार्ड ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here