भिंडी को गमले में कैसे लगाएं और भिंडी के पौधे की देखभाल कैसे करें?

गमले में भिंडी की खेती कैसे करें | गमले में भिंडी लगाने का तरीका | भिंडी को गमले में कैसे लगाएं | भिंडी कितने दिन में होती है | भिंडी कैसे लगाते हैं | भिंडी की अगेती खेती कैसे करें | घर में भिंडी कैसे उगाए | भिंडी के पौधे की देखभाल कैसे करें | भिंडी का पौधा गमले में कैसे लगाएं | भिंडी का बीज सबसे अच्छा कौन सा है

बेहतर स्वास्थ के लिए ताजे और निरोगी सब्जियां बहुत ही जरुरी होती हैं. और कहा भी गया है की “जैसा खाए अन्न, वैसा रहे मन” लेकिन आज के दौर में ताजे और निरोगी सब्जियां आसानी से नहीं मिल पाते हैं. और मिलते भी हैं तो ज्यादातर उनमें रसायनों का प्रयोग अधिक हुआ होता है. इसलिए आज हम आपको इस पोस्ट में बताने जा रहे हैं की घर पर केमिकल फ्री भिंडी को गमले में कैसे लगाएं.

अगर आप भी ताजे सब्जियों के शौकीन हैं तो घर पर ही गमलों में आर्गेनिक सब्जियां उगाकर स्वादिस्ट भोजन का आनंद ले सकते हैं. तो दोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें. तो चलिए आज हम जान लेते हैं की घर में भिंडी कैसे उगाए.

भिंडी को गमले में कैसे लगाएं और भिंडी के पौधे की देखभाल कैसे करें?

भिंडी को गमले में लगाने की सामग्री

  1. अच्छी किस्मों के हाइब्रिड भिंडी का बीज
  2. पौधों की ग्रोथ के लिए जैविक खाद
  3. मिट्टी या प्लास्टिक का गमला
  4. उपजाऊ खेत की भुरभुरी मिट्टी
  5. पानी

गमले में भिंडी का बीज कैसे लगाएं

यदि आप घर पर ही गमले में भिड़ी की सब्जियों को उगाना चाहते हैं तो इसे गमले में लगाने के 2 तरीके हैं-

भिंडी को गमले में कैसे लगाएं और भिंडी के पौधे की देखभाल कैसे करें?
  1. नर्सरी तैयार करके गमले में लगाना
  2. बीज की सीधी बुआई

यदि आप नरसरी तैयार करके भिन्डी का पेड़ गमले में लगाते हैं तो सबसे पहले आपको भिन्डी की नर्सरी तैयार करनी होगी. उसके बाद भिन्डी के पेड़ को गमले में लगाते समय इस बात का ध्यान देना चाहिए की भिन्डी को नर्सरी से गमले में लगाते समय उनकी जड़ें टूटने न पायें, गमले में भिंडी का पौधा लगाने के लिए गमले की मिट्टी का भी खास ध्यान रखना चाहिए. अतः गमले की मिट्टी को उपजाऊ बना लेनी चाहिए.

मिट्टी तैयार करने के बाद प्रत्येक गमले में मिट्टी को भरकर प्रत्येक गमलों में साइज़ के हिसाब से 3 से 5 bhindi ka ped या बीज एक गमले में लगाना चाहिए, अधिक पौधे लगाने से भिंडी का पेड़ कमजोर हो जाते हैं और उसमें फलियाँ नहीं बनती हैं. गमलों में यदि बीजों की बुआई करते हैं तो गमले की मिट्टी में पर्याप्त मिट्टी बनायें रखे, जिससे बीजों में अच्छी तरह से अंकुरण हो सके.

गमले में भिंडी के पौधे की देखभाल कैसे करें

भिन्डी के बीज को गमले में लगाने के बाद उसे तेज धूप से बचाना चाहिए तेज धूप के कारण bhindi ke ped मर सकते है. बीजों को अच्छी तरह अंकुरित होने के बाद जब पौधे मजबूत हो जाएँ उसके बाद ही गमले को धूप में रखें. गमलों में पानी अधिक नहीं देना चाहिए जीतनी जरुरत हो उतनी ही पानी देनी चाहिए.

आधिक पानी देने पर जड़ों में फफूंद लग जाते हैं जिससे पौधे की ग्रोथ रुक जाती है. गमले में भिंडी के पौधे को लगाने के बाद 20 दिन के अंतराल पर पौधों के पास खुरपी से गुड़ाई करके गोबर की खाद डालनी चाहिए जिससे अधिक फल बनते हैं, इस प्रकार आप गमले में भिंडी लगाकर अपने लिए ताजे सब्जियों का आनंद ले सकते हैं.

गमले में भिंडी की ग्रोथ बढ़ाने का तरीका

भिंडी के पौधों को बड़ा करने के लिए गमले में भिन्डी के पौधों के चारो ओर खुरपी की सहायता से मिट्टी की हलकी खुदाई करके प्रति गमले में 25 ग्राम दानेदार कैल्शियम नाइट्रेट देकर हलकी सिंचाई करनी चाहिए. दानेदार कैल्शियम नाइट्रेट का प्रयोग करने से पौधों का विकास बहुत तेजी से होता है. और पौधे भी लम्बे समय तक स्वस्थ रहते हैं.

गमले में भिंडी की उचित सिंचाई

यदि आप घर पर गमले में भिंडी लगते हैं तो इस बात का ध्यान देना चाहिए की गमले में भिन्डी के पौधों को पानी सही समय पर तथा उचित मात्रा में देना चाहिए. अगर गर्मी में गमले में भिंडी लगते हैं तो सिंचाई 2 से 3 दिन के अन्तराल पर करना चाहिए, इसके अलावा अगर खरीफ में भिन्डी लगाते हैं तो सिंचाई मौसम को देखते जब पानी की जरुरत हो तब करनी चाहिए.

भिंडी का बीज कैसे तैयार किया जाता है?

भिंडी को गमले में लगाने के बाद घर पर भिन्डी का बीज बनाने के लिए भिन्डी की 3 से 4 तुड़ाई करने के बाद भिन्डी के फली को छोड़ देनी चाहिए, इसके बाद जब भिन्डी की फलियाँ पूरी तरह से सुख जाएँ तब उनको पौधे से अलग करके धुप में अच्छी तरह उन फलियों को सुखा लेनी चाहिए. जब अच्छी तरह से फलियाँ सुख जाएँ तब इन्हें मसलकर या किसी डंडे से पीटकर बीजों को निकाल लेना चाहिए.

निष्कर्ष

इस पोस्ट में हमने आपको भिंडी को गमले में लगाने के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है, हम उम्मीद करते हैं की घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी उगाने की यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी. यह जानकारी और लोगों तक पहुंचे इसलिए कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वे भी घर में भिंडी उगाकर ताजे एवं स्वस्थ भोजन का आनंद ले सकें..

FAQ.

Q1. भिंडी के बीज का रेट क्या है?

Ans. भिंडी के बीज का रेट अलग-अलग शहरों में कम या ज्यादा होता है हाईब्रिड भिन्डी के बीज की कीमत प्रति किलो 1400 रुपये से लेकर 2000 से भी अधिक होती है.
देशी भिन्डी के बीज के रेट की बात करें तो प्रति किलो 200 रुपये से 650 रुपये किलो में मिल जाती है.

Q2. भिंडी कौन से देश में अधिक होती है?

Ans. भिन्डी की सबसे अधिक खेती भारत में होती है.

Q. गमले में भिंडी कौन से महीने में लगाई जाती है?

Ans. गमले में ग्रीष्मकालीन भिंडी की बुवाई फरवरी से मार्च में तथा वर्षाकालीन भिंडी की बुवाई मई-जून में की जाती है.

Q3. गमले में भिंडी का पौधा कैसे लगाएं?

Ans. गमले में भिंडी का पौधा नर्सरी तैयार करके तथा बीज की सीधी बुआई करके दोनों तरह से लगाया जा सकता है.

Q4. भिंडी के एक पेड़ में कितने ग्राम खाद देना चाहिए?

Ans. भिंडी की फसल में अच्छा उत्पादन लेने के लिए प्रति एक पेड़ में लगभग 200 ग्राम गोबर की खाद एवं 20 ग्राम नत्रजन, 40 ग्राम स्फुर एवं 40 ग्राम पोटाश की मात्रा देनी चाहिए.

Q5. भिंडी का बीज कितने दिन में अंकुरित होता है?

Ans. भिंडी का बीज 5 से 7 दिन में कुरित होता है.

Q6. भिंडी के बीज कैसे होते हैं

Ans. भिन्डी के बीज हलके काले रंग एवं गोल आकार के होते हैं.

इन्हें भी पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here