अप्रैल-मई में घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी कैसे उगायें, यहाँ जाने पूरी जानकारी

how to plant ladys finger in pot: मानव के बेहतर स्वास्थ के लिए ताजे और निरोगी सब्जियां बहुत ही जरुरी होता है. और कहा भी गया है की “जैसा खाए अन्न, वैसा रहे मन” लेकिन आज के दौर में ताजे और निरोगी सब्जियां आसानी से नहीं मिल पाते हैं। इसलिए आज हम आपको घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी उगाने की जानकारी देने जा रहे हैं.

अगर आप भी ताजे सब्जियों के शौकीन हैं तो घर पर ही गमलों में आर्गेनिक सब्जियां उगाकर स्वादिस्ट भोजन का आनंद ले सकते हैं।

हेलो दोस्तों आज हम आपको गमले में भिंडी का पौधा कैसे लगाएं तथा भिंडी को गमले में लगाने से पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं. तो चलिए आज हम जान लेते हैं की घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी का कैसे उगायें.

घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी कैसे उगायें

गमले में भिंडी को लगाने की सामग्री

  1. अच्छी किस्मों के बीज
  2. पौधों की ग्रोथ के लिए जैविक खाद
  3. मिट्टी या प्लास्टिक का गमला
  4. उपजाऊ खेत की भुरभुरी मिट्टी
  5. पानी

यह भी पढ़ें – फसलों में कीटनाशकों का उपयोग कैसे करें?

गमले में भिंडी का बीज कैसे लगाएं(bhindi ka bij kaise lagate hain)

यदि आप घर पर ही गमले में भिड़ी की सब्जियों को उगाना चाहते हैं तो इसे गमले में लगाने के 2 तरीके हैं-

घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी कैसे उगायें
  1. नर्सरी तैयार करके गमले में लगाना
  2. बीज की सीधी बुआई

यदि आप नरसरी तैयार करके bhindi ka podha गमले में लगाते हैं तो इस बात का ध्यान देना चाहिए की lady finger tree को नर्सरी से गमले में लगाते समय उनकी जड़ें टूटने न पायें, गमले में bhindi ka paudha लगाने के लिए गमले की मिट्टी का भी खास ध्यान रखना चाहिए इसलिए गमले की मिट्टी को उपजाऊ बना लेनी चाहिए।

mitti तैयार करने के बाद प्रत्येक गमले में मिट्टी को भरकर प्रत्येक गमलों में साइज़ के हिसाब से 3 से 5 bhindi ka ped या बीज एक गमले में लगाना चाहिए, अधिक पौधे लगाने से भिंडी का पेड़ कमजोर हो जाते हैं और उसमें फलियाँ नहीं बनती हैं।

गमलों में यदि बीजों की बुआई करते हैं तो गमले की मिट्टी में पर्याप्त मिट्टी बनायें रखे, जिससे बीजों में अच्छी तरह से अंकुरण हो सके इसके अलावा अगर आप भिन्डी को गर्मियों में लगा रहे हैं तो 2 से 3 दिन के अन्तराल पर सिंचाई करनी चाहिए।

भिन्डी के बीज को गमले में लगाने के बाद उसे तेज धूप से बचाना चाहिए तेज धूप के कारण bhindi ke ped मर सकते है। बीजों को अच्छी तरह अंकुरित होने के बाद जब पौधे मजबूत हो जाएँ उसके बाद ही गमले को धूप में रखें.

गमलों में पानी अधिक नहीं देना चाहिए जीतनी जरुरत हो उतनी ही पानी देनी चाहिए आधिक पानी देने पर जड़ों में फफूंद लग जाते हैं जिससे पौधे की ग्रोथ रुक जाती है।

गमले में भिंडी के पौधे को लगाने के बाद 20 दिन के अंतराल पर पौधों के पास खुरपी से गुड़ाई करके गोबर की खाद डालनी चाहिए जिससे अधिक फल बनते हैं, इस प्रकार आप gamale mein bhindi ka podha लगाकर अपने लिए ताजे सब्जियों का आनंद ले सकते हैं।

bhindi ke bij kaise hote hain

भिन्डी के बीज हलके काले रंग के गोल आकार के होते हैं.

इस लेख में क्या जाना

इस लेख में हमने आपको “घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी कैसे उगायें” इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है, हम उम्मीद करते हैं की घर पर गमले में केमिकल फ्री भिंडी उगाने की यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी. यह जानकारी और लोगों तक पहुंचे इसलिए कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वे भी गमले में भिंडी उगाने का लाभ ले सकें.

FAQ

Q. भिंडी का बीज कैसे बनाया जाता है?

A. gamale mein bhindee ke paudhe को लगाकर बीज बनाने के लिए भिन्डी की 3 से 4 तुड़ाई करने के बाद bhindee ke फली को छोड़ देनी चाहिए जब भिन्डी की फलियाँ पूरी तरह से सुख जाएँ तब उनको पौधे से अलग करके बीजों को निकाल लेना चाहिए.

Q. भिंडी के बीज का रेट क्या है?

A. भिंडी के बीज का रेट अलग-अलग शहरों में कम या ज्यादा होता है हाईब्रिड Bhindi के बीज थोड़े महंगे होते हैं जिनकी 1 किलो बीज 1400 रुपये से लेकर 2000 से भी अधिक होती है,
वहीँ यदि देशी Bhindi के बीज के रेट की बात करें तो यह हाईब्रिड Bhindi की तुलना में बहुत सस्ते होते हैं, देशी Bhindi के 1 किलो बीज की कीमत 200 रुपये से 650 रुपये किलो होती है.

Q. भिंडी कौन से देश में अधिक होती है?

A. भिन्डी की सबसे अधिक खेती भारत में होती है.

Q. भिंडी गमले में कौन से महीने में लगाया जाता है?

A. गमले में ग्रीष्मकालीन भिंडी की बुवाई फरवरी से मार्च में तथा वर्षाकालीन भिंडी की बुवाई जून-जुलाई में की जाती है।

Q. गमले में भिंडी का पौधा कैसे लगाएं?

A. गमले में भिंडी का पौधा नर्सरी तैयार करके तथा बीज की सीधी बुआई करके दोनों तरह से लगाया जा सकता है.

Q. भिंडी के एक पेड़ में कितने ग्राम खाद देना चाहिए?

A. भिंडी की फसल में अच्छा उत्पादन लेने के लिए प्रति एक पेड़ में लगभग 200 ग्राम गोबर की खाद एवं 20 ग्राम नत्रजन, 40 ग्राम स्फुर एवं 40 ग्राम पोटाश की मात्रा देनी चाहिए.

इन्हें भी पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here