How to make 4 types of chemical solution | 4 प्रकार के रसायनों का घोल कैसे बनाएं

नमस्कार किसान भाइयों आज हम आपको फसलों पर रसायनों का छिड़काव करने से पहले रसायनों का घोल कैसे बनाएं तथा कृषि में रसायन का महत्व के बारे में बताने जा रहे हैं आशा करता हूँ की आपको How to make 4 types of chemical solution यह जानकारी अच्छी लगेगी.

किसान भाइयों जैसा की आप सब जानते हैं की फसलों में तरह-तरह के रोग जैसे- रस चूसने वाले कीड़े, पत्ती खाने वाले कीड़े तथा फफूंद आदि लगते रहते हैं, और उनसे फसलों को बचाने के लिए किसान कीटनाशक तथा फफूंद नाशक रसायनों का छिड़काव करते हैं.

लेकिन बहुत से किसान भाइयों की यह समस्या होती है की रसायनों का छिड़काव करने के बाद भी रोग तथा कीटों से छुटकारा नहीं मिल पाता है जिससे फसल पूरी तरह बर्बाद हो जाती है,

रसायनों का छिड़काव करने के बाद भी रोग तथा कीटों से छुटकारा नहीं मिल पाने का मुख्य कारण यह होता है की किसान भाई रसायनों का ठीक प्रकार से घोल नहीं बना पाते हैं.

किसान सब्जियों की खेती या किसी भी तरह की फसल लगाते हैं तो यह देखने को मिलता है की कभी-कभी एक साथ 3 से 4 तरह के रोग और कीट फसल को नुकसान पहुचाते हैं और किसान भाई कीटनाशक की दुकान से रसायन लेकर उनका घोल बनाकर फसलों पर छिड़काव कर देते हैं.

और छिड़काव करने के बाद भी रोग और कीट समाप्त नहीं होते हैं तो चलिए हम आपको बताते हैं की 3 से 4 तरह के रसायनों का घोल कैसे तैयार करें.

यह भी पढ़ें- गमले की मिट्टी को उपजाऊ बनाने के तरीके

फसलों पर कीटनाशकों का छिड़काव कैसे करें

3 से 4 प्रकार के रसायनों का घोल कैसे तैयार करें

  • फसलों में यदि एक साथ 3 से अधिक रोग या कीट का प्रकोप जैसे- फल छेदक, जड़ गलन, फूलों का गिरना तथा झुलसा रोग होता है तो इस स्थिति में 3 से 4 प्रकार के रसायनों का घोल तैयार करना होता है लेकिन इन रसायनों का अच्छे घोल तैयार करना बहुत ही आवश्यक होता है.
  • यदि एक साथ 3 से अधिक 4 types of chemical solution बनानी हो तो सबसे पहले 1 लीटर पानी लें और उसमें फफूंद नाशक रसायन को मिलाकर अच्छी तरह घोल तैयार करें.
  • इसी तरह यदि कोई कीटनाशक भी मिलाना हो तो 1 लीटर पानी में घोल बनायें.
  • इसी प्रकार जितने भी फफूंद नाशक और कीटनाशक हैं सभी का सबसे पहले अलग-अलग 1लीटर पानी में घोल तैयार करें.
  • सभी रसायनों का अलग-अलग 1लीटर पानी में घोल तैयार करने के बाद 15 लीटर के स्प्रे मशीन में सबसे पहले फूलों का गिरना कम करने के लिए Boron (बोरान) के घोल को डालें.
  • इसके बाद जड़ गलन, और झुलसा रोग से बचाव के लिए फफूंद नाशक रसायन को डालकर Boron में मिलाएं.
  • इसी प्रकार रसायनों का घोल बनाते समय इस बात का ध्यान रखें की सबसे पहले फफूंद नाशक उसके बाद कीटनाशक रसायन को मिलाना चाहिए.
  • इस विधि से तैयार किया गया रसायनों का घोल फसलों पर छिड़काव करने से रोग तथा कीटों से बहुत जल्द निजात मिलता है.

यह भी पढ़ें- ऐसे लगाएं गमले में भिंडी का पौधा

इस लेख में क्या है,

इस लेख में आपकों रसायनों का छिड़काव करने से पहले अच्च्छे ढंग से रसायनों का घोल कैसे बनाएं के बारे में बतलाया गया है. साथ ही आपकों Chemicals से सम्बंधित महत्वपूर्ण FAQ के बारे में भी बतलाया गया है.

हम उम्मीद करते हैं की यह लेख आपकों पसंद आई होगी इसलिए कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें ताकि वे भी 4 types of chemical solution को ठीक से मिलाकर फसलों पर छिड़काव कर सकें,

और साथ ही इससे संबंधित यदि कोई भी सवाल है तो आप नीचे कमेंट कर सकते हैं. और रसायनों का घोल कैसे बनाएं के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

FAQ

4 प्रकार के रसायनों का घोल कैसे बनाएं?

सभी रसायनों का अलग-अलग 1लीटर पानी में घोल तैयार करने के बाद 15 लीटर के स्प्रे मशीन में सबसे पहले फफूंद नाशक उसके बाद कीटनाशक रसायन को मिलाना चाहिए, 4 प्रकार के रसायनों का घोल बनाने की यह विधि सबसे उत्तम विधि होती है.

मानव जीवन में रसायन का महत्व?

हमारे मानव जीवन में रसायन का बहुत महत्व है। आज के दौर में रसायनों के कारण ही कृषि प्रगति की तरफ है। रसायनों द्वारा निर्मित वस्तुओं से ही खेतों की उर्वरा शक्ति बढती है और फसलों को बर्बाद करने वाले कीटाणुओं से छुटकारा मिलती हैं .

रसायन विज्ञान के कितने तरह होते है ?

रसायन विज्ञान मुख्य रूप से 3 प्रकार के होते हैं. भौतिक रसायन, कार्बनिक रसायन तथा अकार्बनिक रसायन.

रसायन विज्ञान का आविष्कार किसने किया था है?

एंटोनी लेवोज़ियर ने रसायन विज्ञान का आविष्कार किया था, इनका जन्म फ़्रान्स में वर्ष – 26 अगस्त 1743 में हुआ था तथा मृत्यु पेरिस में वर्ष – 8 मई 1794 में हुआ था, इनको अट्ठारहवीं शताब्दी के रसायन क्रान्ति का केन्द्र भी माना जाता है.

Previous articleHow to plant lady’s finger in pot | गमले में भिंडी का पौधा कैसे लगाएं
Next articleJhatka Machine Price | नीलगाय, सुअर व जंगली जानवरों को भगाने की झटका मशीन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here