Home खेती-किसानी ग्रामीण किसान गेहूं की कटाई के बाद लगायें ये पत्तेदार सब्जियाँ हो...

ग्रामीण किसान गेहूं की कटाई के बाद लगायें ये पत्तेदार सब्जियाँ हो जायेंगे मालामाल

गेहूं की कटाई के बाद लगायें ये पत्तेदार सब्जियाँ हो जायेंगे मालामाल

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको गर्मियों में गेहूं की कटाई के बाद बोई जाने वाली पत्तेदार सब्जियों के बारे में बताने जा रहे हैं. जिससे आप बहुत अच्छा मुनाफा कम सकते हैं.

दोस्तों गर्मियों में हरी पत्तेदार सब्जियों का बहुत ही अधिक डिमांड रहता है. क्योंकि इन दिनों हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत लाभदायक होता है. गर्मियों में डाक्टर भी हरी सब्जियों का सेवन करने की सलाह देते हैं.

तो आइये जानते हैं की वे कौन सी सब्जियाँ हैं जिन्हें गर्मियों में गेहूं की कटाई के बाद लगाकर बहुत ही कम समय और कम लागत में अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है.

पालक

अगर किसान पालक की खेती मालामाल होना चाहते हैं तो यह उनके लिए बहुत ही अच्छा अवसर है. पालक की खेती बहुत ही सस्ती खेती है. क्योंकि अन्य सब्जियाँ जैसे- टमाटर, बैंगन, भिन्डी, मिर्च इत्यादि की अपेच्छा इसमें रोग और कीट नहीं लगते हैं और यह बुआई के 45 दिन बाद ही कटाई के लिए तैयार हो जाते हैं. हाइब्रिड पालक की बुआई करके इसकी 2 से 3 कटाई की जा सकती है. इसलिए यदि किसान भाई गर्मी में गेहूं की कटाई के बाद पालक की खेती करते हैं तो मालामाल हो सकते हैं.

मुली

मुली का उपयोग दो तरह से किया जाता है. इसके जड़ों का इस्तेमाल रायता या सलाद के रूप में तथा इसके पत्तियों का उपयोग हरी साग के रूप में किया जाता है. इसमे भी रोग और कीट बहुत कम लगते हैं. गर्मियों में मुली का रेट हमेशा हाई रहता है. अगर आप गर्मी में गेहूं की कटाई के बाद मुली की खेती करना चाहते हैं तो हाइब्रिड मुली ही लगायें. क्योंकि इनकी जड़ें सफ़ेद और चमकदार होते हैं तथा पत्तियां हरी रहती है जिससे इनके रेट बहुत अच्छे मिलते हैं.

चौराई

चौराई का उपयोग हरी साग के रूप में किया जाता है. पालक की तरह इसकी भी कटाई 2 से 3 बार करके बहुत अच्छा पैसा कमाया जा सकता है. इनके बीज बहुत महंगे नहीं होते हैं और इसमें रोग लगने की तो कोई बात ही नहीं होती है. वैसे तो चौराई की खेती पुरे वर्ष की जाती है लेकिन गर्मियों में इसकी मांग सबसे अधिक होती है.

धनियाँ

यदि किसान गर्मियों में गेंहूँ की कटाई के बाद धनियाँ की खेती करते हैं तो बहुत ही अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं. क्योंकि अप्रैल और मई में बोई गई धनिया की कटाई जून महीने में होती है. और इस समय धनिया की मांग इतनी बढ़ जाती है की जीतनी कमाई पुरे साल में नहीं होती उससे अधिक कमाई केवल 1 से 2 महीने में हो जाती है. अप्रैल और मई में बोई गई धनियाँ की कटाई जब होती है तो उस समय धनिये के रेट प्रति किलो 80 से 100 रूपये होती है.

पत्ता गोभी

हरी साग के लिए तथा सब्जियाँ बनाने के लिए होटलों में पत्तागोभी की खपत बहुत अधिक होती है. और गर्मियों में पत्तागोभी की खेती किसानों के लिए मुनाफा कमाने का बहुत अच्छा अवसर होता है. पत्तागोभी की खेती में रोग भी बहुत कम होते हैं. और इसमें देखरेख भी बहुत कम होती है. इन दिनों पत्तागोभी की रेट की बात करें तो प्रति पीस 30 से 40 रुपये में बिकती है. इस प्रकार यदि 30 हजार पौधे लगाते हैं तो 9 लाख रुपये की कमाई होती है. जिसमे पूरा खर्च काटकर लगभग 7.5 लाख रुपये की बचत होती है.

यह आर्टिकल भी पढ़ें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version