Home खेती-किसानी कमाना चाहते हैं अधिक पैसे तो लगायें 5 सबसे महंगी बिकने वाली...

कमाना चाहते हैं अधिक पैसे तो लगायें 5 सबसे महंगी बिकने वाली फसल

सबसे महंगी बिकने वाली फसल

सबसे महंगी फसल कौन सी होती है | भारत की सबसे महंगी फसल | सबसे महंगी खेती | sabse mahangi kheti | शतावरी बाजार भाव | most expensive crop in india | most expensive agricultural products in india | costly crops in india |

अक्सर किसान भाई जो खेतीबाड़ी पे निर्भर हैं, वे अपने खतों में लगभग सभी तरह के सब्जियों की खेती करते हैं. और वे ऐसी सब्जियां होती हैं जो लगभग पुरे देश में उगाई जाती है. इसलिए उन सब्जियों की कीमत किसान के मेहनत और लागत की अपेच्छा बहुत कम होती है.

जिससे किसान को उतना मुनाफा नहीं मिल पाता है जितना किसान उन सब्जियों से कमाने की उम्मीद लगाते हैं. कभी-कभी ऐसा होता है की जब किसान के उन सब्जियों की डिमांड बढ़ती है तो उसी मंडी के ब्यापारी दूर की मंडियों से सस्ती सब्जियां मंगाकर रेट गिरा देते हैं.

ऐसी हालत में किसान भाइयों को चाहिए की ऐसी सब्जियों की खेती करें की जिसकी मांग बाजार में पुरे वर्ष बनी रहती है. और जो हर समय अच्छे और महंगे दामों पर बिकते हों. तो किसान भाइयों चलिए हम आपको 5 सबसे महंगी बिकने वाली फसले के बारे में बताने जा रहे हैं, जो हमेशा महंगे बिकते हैं. जिससे आप बहुत जल्द मालामाल हो सकते हैं.

सबसे महंगी बिकने वाली फसलें

चेरी टमाटर की खेती(cherry tamatar ki kheti)

चेरी टमाटर बहुत अधिक मीठे होते हैं. अक्सर देखा जाता है की विशेषज्ञ के द्वारा चेरी टमाटर का सेवन करने की सलाह दी जाती हैं. क्योंकि यह एक ऐसी सब्जी है जो मीठा होने के साथ स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अधिक लाभकारी होता है.

बड़े टमाटरों की तरह इसकी खेती भी बहुत आसानी से की जाती है. लेकिन चेरी टमाटर झाड़ियों पर चढाकर उगाई जाती है. एक तरह से ये बेल वाली फसल है अगर इसके कीमत की बात करें तो यह मार्किट में 150 से 250 के लगभग बिकती है.

जुकीनी की खेती

सेहत और स्वाद की दृष्टी से जुकीनी लाभकारी होता है. इस सब्जी में पानी की मात्रा बहोत अधिक होती है बहुत से लोग इसका सेवन वजन घटाने के लिए करते हैं. यहीं कारण है की इसकी डिमांड हमेशा बाजार में बनी रहती है. बाजार में इसकी कीमत 20 रूपये से लेकर 50 रूपये तक होती है. इसे चप्पन कद्दू के नाम से भी जाना जाता है.

मशरूम की खेती

हंगी बिकने वाली सब्जियों में मशरूम का भी बाजार में एक प्रमुख स्थान है. मशरूम की खेती करने के लिए खेत की नहीं बल्कि घर की जरूरत होती है. यह ऐसी सब्जी है जिसे अंधरे में उगाया जाता है. इसे उगाने के लिए ना ही खरपतवार निकालने की चिंता होती है, और ना ही रोग लगने और कीटनाशक छिड़काव करने की चिंता होती है.

वैसे तो मशरूम की मांग हमेशा बाजार में बनी रहती है. लेकिन शादियों के सीजन में इसकी मांग कई गुना बढ़ जाती है. और बाजार में इसकी कीमत 150 रूपये से लेक 250 रूपये किलो तक रहती है.

बोक चॉय की खेती

यह विदेशों में उगाई जाने वाली सब्जी है लेकिन अब धीरे-धीरे भारत में भी इसकी की जाने लगी है. बोक चॉय स्वाद की दृष्टि से बहुत अच्छी मानी जाती है. बोक चॉय की खेती गोभी की तरह ही सर्दियों के मौसम में उगाई जाती है. विदेशी सब्जी होने के नाते भारत में इसकी खेती कम होती है इसलिए भारतीय बाजार में इसकी मांग हमेशा बनी रहती है.

शतावरी की खेती

भारतीय बाजारों सबसे महंगी सब्जी शतावरी ही बकती है. यह एक झाड़ीदार पौधा होता है और यह औषधीय गुणों से भरपूर एक पौधा है. इसमें अनेक प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं. जो रोगों से शरीर की रक्षा करके स्वास्थ्य ठीक रखता है. इसकी कीमत की बात करें तो यह 1200 रूपये प्रति किलो से लेकर इससे महंगे ही बिकते हैं.

शतावरी का इस्तेमाल पशुओं में दुग्ध उत्पादन बढ़ाने के लिए भी किया जाता है. बुआई करने के डेढ़ साल बाद यानि 18 महीने में शतावरी कटाई के लिए तैयार होती है. भारत में इसकी खेती गुजरात, उत्‍तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्‍यप्रदेश, राजस्थान जैसे शहरों में की जाती है.

खेती करना कहाँ से सीखें

आज के दौर में चाहे खेती की जानकारी हो चाहे किसी बिजनेस की जानकारी हो youtube या google दुनिया का एक ऐसा डिजिटल प्लेटफार्म है जिसके माध्यम से किसी भी जानकारी को घर बैठे बहुत आसानी से प्राप्त किया जा सकता है.

FAQ:

Q: चेरी टमाटर कब लगाएं?

ANS: गर्मियों में.

Q: जुकीनी कब लगाएं?

ANS: यह सर्दी के मौसम में उगाया जाता है.

Q: मशरूम कितने दिन में तैयार होता है?

ANS: 3 महीने में.

Q: शतावरी बाजार भाव क्या बिकती है?

ANS: 1200 रूपये प्रति किलो.

यह भी पढ़ें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version