मखाना विकास योजना के तहत मिल रही 72,750 की सब्सिडी

मखाना विकास योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे | Makhana vikash Yojana online kaise kare | कृषि विभाग मखाना विकाश योजना | Bihar makhana vikash Yojana | Makhana anudan Yojana | makhana Yojana ka form kaise bhare | Makhana Agriculture in Bihar

किसानों की आय बढ़ाने तथा उनके विकास के लिए सरकार तरह-तरह की योजनाएं किसानों के लिए लांच कर रही है। इसी बीच सरकार ने अब मखाना विकास योजना लागू किया है। इन योजनाओं के माध्यम से किसानों को अधिक लाभ हो, इसके लिए कृषि विभाग और उद्यान विभाग की ओर से किसानों को मखाना की खेती के लिए बढ़ावा दिया जा रहा है।

मखाना विकास योजना का लाभ अधिक से अधिक किसान ले पाएं इसके लिए सरकार द्वारा किसानों को सब्सिडी का लाभ दिया जाता है। बिहार के किसानों को बिहार सरकार की ओर से मखाना की खेती करके अधिक उत्पादन बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

बिहार के इन जिलों के किसानों को मिलेगा लाभ

बिहार सरकार ने मखाना की खेती करने के लिए 8 जिलों किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, पश्चिम चम्पारण, दरभंगा, अररिया, सुपौल और सहरसा में प्रबंध ब्यवस्था शुरू कर दी है। इन जिलों के किसानों को अच्छे क्वालिटी के मखाना के बीज उत्पादन बढ़ाने के उद्देश्य से दिए जाएंगे। साथ ही इन किसानों को सरकार की ओर से मखाने पर सब्सिडी की योजना का लाभ भी दिया जाएगा।

इन किसानों को मिलेगा 75% अनुदान

बिहार राज्य सरकार के मुताबिक 1 हेक्टेयर खेत मे मखाना की खेती के अच्छे एवं उन्नत किस्मों के बीज के लिए 97,000 रुपए की लागत आएगी। और जो भी किसान इसकी खेती करेंगे उनको सरकार की तरफ से 75 प्रतिशत तक कि सब्सिडी भी दी जाएगी। और नियम के अनुसार सहायतानुदान DBT कार्यक्रम के तहत् CFMS द्वारा भुगतान किया जायेगा। ताकि अधिक से अधिक किसान इस योजना में भागीदारी ले सकें। इस योजना का लाभ लेने के लिए ऊपर दिए गए 8 जिलों के किसान ही आवेदन करके उन्नत किस्म के बीज प्राप्त कर सकते हैं।

नई प्रजाति के बीज से होगी मखाने की बम्पर उत्पादन

मखाने की खेती से अधिक उत्पादन के लिए उन्नत किस्म के बीज पर काफी जोर दे रही है। साथ ही अच्छी खेती और अच्छे उत्पादन के लिए बिहार सरकार किसानों को अनुदान भी दे रही है। राज्य सरकार के मुताबिक जहाँ मखाना की खेती से 1 हेक्टेयर खेत मे 16 क्विंटल उत्पादन होती थी। वहीं स्वर्ण वैदेही और सबौर मखाना-वन इस नई प्रजाति के बीज से उत्पादन बढ़कर 28 क्विंटल प्रति हेक्टयर हो रही है।

ऐसे किसानों को मिलेगा मौलिकता

मखाना की खेती के लिए सब्सिडी का लाभ जीन किसानों को दिया जाएगा वो इस प्रकार हैं।

  • 1 प्रतिशत अनुसूचित जनजाति
  • 16 प्रतिशत अनुसूचित जाति
  • 30 प्रतिशत प्राथमिकता सभी वर्गों के इच्छुक महिलाओं को

मखाने की खेती के लिए आवेदन हेतु आवश्यक दस्तावेज

  1. आवेदक का आधार कार्ड
  2. आवेदक के भूमि की खतौनी
  3. बैंकपास बुक
  4. मोबाइल नंबर
  5. पैन कार्ड
  6. फोटो इत्यादि।

बिहार मखाना विकास योजना ऑनलाइन आवेदन

बिहार के उन 8 राज्य के किसान मखाने की खेती पर अनुदान का लाभ लेने के लिए वहाँ के किसान उद्यानिकी विभाग के पोर्टल horticulture.bihar.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन या सीएससी सेंटर पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं।

FAQ

Q: मखाना विकास योजना के लिए कौन आवेदन कर सकते है?

ANS: बिहार के इन 8 राज्य के किसान शनगंज, पूर्णिया, कटिहार, पश्चिम चम्पारण, दरभंगा, अररिया, सुपौल और सहरसा आवेदन कर सकते है.

Q: मखाने की खेती के लिए कितनी सब्सिडी मिल रही है?

ANS: मखाने की खेती पर 72,750 रुपए सब्सिडी मिल रही है.

Q: ऑनलाइन करने के बाद फॉर्म को कहाँ जमा करना पड़ेगा?

ANS: ऑनलाइन करने के बाद फॉर्म को उद्यान पदाधिकारी के पास जमा करना होगा.

इसे भी पढ़ें

पीएम किसान केवाईसी कैसे करें

एग्रीकल्चर मशीन सब्सिडी

कृषि विभाग का टोल फ्री नंबर

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version