बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें | barsaat ke mausam mein kaun si fasal ugai jaati hai

बेमौसम सब्जी की खेती | जून-जुलाई में बोई जाने वाली फसलें | सब्जी की खेती से लाभ | बरसात के मौसम में कौन सी फसल होती है | बरसात में सब्जी कैसे उगायें | बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें | बरसात में कौन सी फसल बोई जाती है | बरसात में कौन सी फसल आती है

वैसे तो सब्जियों को लगाने का अलग-अलग सीजन होता है। जैसे सर्दी, गर्मी और बरसात और इन तीनों सीजन में अलग-अलग सब्जियां लगाई जाती हैं। पतन्तु कुछ सब्जियां ऐसी भी होती हैं जो पूरे वर्ष यानी 12 महीने लगाई जाती हैं। जैस- मूली की खेती, पालक, पत्ता गोभी, बैंगन आदि।

देखा गया है कि बहुत से किसान बेमौसम सब्जी की खेती करते हैं। बिना सीजन में कई गई सब्जियों की खेती में पैदावार लगभग आधी होती है। लेकिन सब्जी मंडियों में बेसिजन सब्जियों की कीमत बहोत अधिक महँगी होती है। जिससे किसान अच्छा खासा पैसा कमा लेते हैं।

बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें

लेकिन कुछ सब्जियां ऐसी भी होती हैं जो यदि बिना सीजन के लगाया जाय तो उनमें फली बनते ही नहीं इसलिए आप जब भी सब्जियों की खेती करें तो ऐसी सब्जियां लगाएं जो उस महीने या उस मौसम के लिए निर्धारित हो।

नमस्कार किसान भाइयों आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें और अच्छी पैदावार बढ़ाने के लिए सब्जी की खेती कैसे करें।

बरसात में बोई जाने वाली फसल

हमारे भारत मे बारिश का महीना जून से लेकर अगस्त तक होता है।ऐसे में बरसात में जहां कुछ सब्जियों की नर्सरी तैयार की जाती है, तो वहीं बहुत सी सब्जियों की मुख्य खेतों में बुआई की जाती है।

मौसम चाहे कोई भी हो 3 तरह की बरसात में सब्जी की खेती होती हैं।

  • बेल वाली सब्जियां
  • खड़ी फसल की सब्जियां
  • जमीन के अंदर बनने वाली सब्जियां

बरसात में बोई जाने वाली फसल

pattagobhi ki sabji, खीरा, बैंगन, लोबिया, करेला, लौकी पालकी, तुरई, बीन्स, भिण्‍डी, प्‍याज, चौलाई, मूली इत्यादि।

बरसात में सब्जी कैसे उगाएं

वैसे तो बरसात में उगने वाली जितनी भी सब्जियां हैं आप उनकी खेती कर सकते हैं लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि बरसात के दिनों में अपने खेतों की अच्छी तरह से मेड़बंदी कर लें उसके बाद ही बरसात के मौसम में सब्जियों की खेती करें।

बरसात की खेती करने के लिए अच्छी जलनिकासी वाली भूमि का चुनाव करना चाहिए। साथ ही जुलाई में मूली की खेती करनी हो तो बलुई मिट्टी वाली ऊंचे जलनिकास वाली भूमि का चयन करें ताकि barsat होने के पश्चात पानी तुरंत खेत से बाहर निकल जाए।

बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें

मूली के खेत मे अधिक देर तक पानी रुके रहने पर मूली की कंद सड़ने लगती हैं और इसके कन्द में काले रंग के खैरा दाग बन जाते हैं। और देखने में बहुत खराब लगते हैं जिससे सब्जी मंडी में इनकी कोई कीमत नहीं होती है। चूंकि मूली बहुत ही नाजुक फसल होती है यह अधिक देर तक पानी सहन नहीं कर सकती है। इसलिए बरसात में अच्छी ढलान वाली बलुई मिट्टी में ही हाइब्रिड मूली की खेती करनी चाहिए।

बरसात में बेल वाली सब्जियों की खेती

बारिश में लता वाली सब्जियां सीधे जमीन पर न लें, क्योंकि पानी बरसने की वजह से सब्जियों में दाग बनने लगते हैं और फली भी सड़ने लगती है। बरसात के मौसम में बेल वाली जितने भी सब्जियां हैं जैसे- नेनुआ, तोरई, करैला, खीरा, चिचिड़ा इत्यादि।

इन सब सब्जियों को लगाने के बाद खेत में बाँस का झमड़ा यानी मचान बना लेनी चाहिए, मचान विधि से बेल वाली सब्जियों की खेती करने से इन सब्जियों की फलों में दाग-धब्बे नहीं बनते हैं। और सब्जियां लटककर फलती हैं इसलिए जितने भी फल आते हैं सीधी और लंबे होते हैं। जिसकी मंडियों में अच्छी कीमत मिलती है।

बरसात में खड़ी फसल वाली सब्जी की खेती कैसे करें

खड़ी फसल वाली सब्जी जैसे- बैंगन की सब्जी, भिन्डी, पत्तागोभी, बींस आदि बरसात में कई जाती है। बारिश के दिनों में खेतों में खरपतवार बहोत अधिक लगते हैं। जिसके कारण रोग और कीड़े बहुतायत लगते हैं। और लगातार बारिश होने और खेत में पानी डूबे रहने से सब्जियों के पेड़ों की जड़ें भी सड़ने लगते हैं और देखते ही देखते सभी पौधे उकथ जाते हैं और अंत में सुख जाते हैं। इसलिए जून-जुलाई में बोई जाने वाली फसलें लगाने से पहले जल निकास वाली भूमि का चयन अवश्य करें।

इस लेख में क्या है,

इस पोस्ट में हमने आपको बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें तथा barsaat ke mausam mein kaun si fasal किस प्रकार उगाई जाती है. के बारे में बताया गया है. हम उम्मीद करते हैं की बरसात में उगाई जाने वाली सब्जियों की यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी. यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें।

पूछे गए पश्नों के उत्तर

Q. बरसात में कौन सी सब्जी की खेती करें?

ANS. पत्तागोभी, खीरा, बैंगन, लोबिया, करेला, लौकी, तुरई, बीन्स, भिण्‍डी, प्‍याज, चौलाई, पालक की सब्जी, मूली इत्यादि।

Q. बरसात के मौसम में कौन सी फसल बोई जाती है?

ANS. बरसात के जून जुलाई में पत्तागोभी, खीरा, बैंगन, लोबिया, करेला, लौकी आदि सब्जियों के साथ अरहर, उर्द, मुंग, बाजरा, मक्का,धान आदि फसल बोई जाती है।

इन्हें भी पढ़ें

टमाटर के पौधे की देखभाल

प्याज की खेती कैसे की जाती है

खेती में काम आने वाले औजार के नाम

Previous articleभूमि को उपजाऊ कैसे बनाये | how is soil made fertile
Next article(uttar pradesh gopalak yojana 2022) गोपालक योजना उत्तर प्रदेश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here