Home कृषि व्यवसाय बकरी पालन कैसे होता है | बकरी पालन की शुरुआत कैसे करें

बकरी पालन कैसे होता है | बकरी पालन की शुरुआत कैसे करें

बकरी पालन कैसे होता है | बकरी पालन की शुरुआत कैसे करें

देसी बकरी की कीमत क्या है | बकरी पालन कैसे होता है | बकरी कहा से खरीदे | bakri palan kaise kare | goat farming in hindi | bakri kitne din mein baccha deti hai | बकरी के बच्चे कहां से खरीदें | बकरी की भूख बढ़ाने के लिए क्या करना चाहिए | बकरी पालन चारा व्यवस्थापन

महंगाई इतनी बढ़ गई है की 10 या 12 हजार की कोई छोटी-मोटी नौकरी से परिवार चलाना मुश्किल हो गया है. और यदि हम किसानों की बात करें तो, किसान भाई बहुत मेहनत करके बड़ी उम्मीद के साथ फसलों की बुआई करते हैं. की इस बार कमाई अच्छी होगी, लेकिन जैसे ही फसल के कटाई का समय आता है तो किसान भाइयों को मंदी का सामना कारना पड़ता है या प्राकृतिक आपदाओं से फसल बर्बाद हो जाती है. तो दोस्तों आज हम आपको एक ऐसे घरेलु बिज़नेस के बारे में बताने जा रहे हैं. जिसे किसान भाई खेती-बाड़ी के साथ-साथ अपने घर पर ही बहुत कम पूंजी लगाकर एक्स्ट्रा इनकम जनरेट करके एक अच्छा जीवन ब्यतीत कर सकते हैं.

जी हाँ दोस्तों आज हम बात करने जा रहे हैं. देसी बकरी पालन के बारे में. यह एक ऐसा साइड बिज़नेस है जिससे किसान खेती-बाड़ी के साथ करके एक्स्ट्रा इनकम कमा सकते है. आज के टाइम पर किसी को भी एक ही काम के भरोसे नहीं रहना चाहिए. तो दोस्तों चलिए जानते हैं की बकरी पालन से कमाई के लिए बकरी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें. अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

बकरी पालन शेड बनाने का तरीका

बकरी पालन कारोबार को शुरू करने के लिए आपको कहीं भाड़े पर कमरे लेने की जरुरत नहीं है. इस कारोबार को शुरू करने के लिए आप अपने घर ही थोड़ी जगह में शुरू कर सकते हैं. अगर आप चाहे तो इस व्यवसाय को अपने घर के पास बगीचों में झोपड़ी लगाकर भी शुरू कर सकते हैं. जब आपको लगे की अब इस बकरी पालन कारोबार को और बड़ा करना है तब आप एक बड़ा सा फार्म बनाकर इस बकरी पालन बिजनेस को कार्मशियल व्यवसाय में बदल सकते है. लेकिन बकरी पालन की शुरुआत किसानों को सबसे पहले लगभग 5 से 10 के बीच में करनी चाहिए. इससे आपको बकरी पालन में कितना खर्च आता है इसका अनुमान लग जायेगा. और 10 बकरी पालने में कितना खर्चा आएगा इसका भी पता चल जाता है.

बकरी पालन व्यवसाय के लाभ

बकरी पालन व्यापार से एक नहीं बल्कि 3 प्रकार के लाभ होते है.

बकरी का दूध- गाय और भैस के दूध के साथ बकरी का दूध भी काफी फायदेमंद होता है. छोटे बच्चों में प्रोटीन के साथ उनकी ग्रोथ के लिए बकरी का दूध काफी लाभदायक होता है. इसके साथ इसमें फॉस्फोरस, कैल्शियम, मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होती है. इसके साथ ही यह हृदय रोग, सूखा रोग, ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करना, कोलाइटिस से राहत देना आदि फायदे होते हैं.

बकरी पालन से खाद उत्पादन- अगर आप बड़े पैमने पर बकरी पालन करेंगे तो आप इनके खाद को भी अपने खेतों में डाल सकते हैं या इनको बेच भी सकते हैं.और कहीं-कहीं देखा जाता है की बहुत से किसान अपने खेतों में देशी खाद के लिए बकरियों के झुण्ड को अपने खेतों में रात के समय बकरी पालक से रखने को कहते हैं. जिससे रात को बकरियों द्वारा किया गया मल-मूत्र खाद के काम आता है और इसके बदले बकरी पालक को एक रात के 500 से 700 रुपये की कमाई होती है.

बकरी के मांस- देसी बकरी के मीट की डिमांड भारतीय बाजार में सबसे अधिक है. बकरी पालन से सबसे अधिक लाभ मीट से ही होता है, यदि आप बकरी पालन करते हैं तो आपको इनको बेचने के लिए कहीं भटकने की जरुरत नहीं पड़ेगी बल्कि मीट की दुकान चलाने वाले आपसे खुद ही संपर्क करके आपसे खरीदने आयेंगे. और बकरे की हाईट के हिसाब से 10 से 12 हजार रूपये में खरीदते हैं.

बकरी पालन लोन

किसानों के विकास के लिए सरकार समय-समय पर सब्सिडी जैसी योजनायें लाती रहती है. और ऐसे में सरकार बकरी पालक किसानों के लिए बकरी पालन व्यवसाय योजना के तहत 90% तक सब्सिडी दे रही है. यहाँ हम आपको बता दें की हरियाणा सरकार राज्य के पशुपालकों को 90 प्रतिशत तक सब्सिडी देने का प्रावधान किया है. ऐसे में अगर कोई किसान बकरी पालन शुरू करने की सोच रहे हैं और उनके पास पैसे नहीं हैं तो आप बैंकों से लोन लेकर बकरी पालन व्यवसाय शुरू कर सकते हैं.

बकरी पालन में कितना खर्च आता है

बकरी पालन व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको बकरियों को रखने के लिए सबसे पहले किसी बगीचे के आसपास एक अच्छे स्थान का चयन करना होगा ताकि गर्मियों के मौसम में दिक्कतों का सामना ना करना पड़े. इसके बाद इनको पानी पिलाने के लिए भी ब्यवस्था करनी होगी, यानि कुल मिलाकर आपको स्थान और पानी की ब्यवस्था पहले आपको करनी होगी.

उसके बाद अब बात आती है इनके चारे की इसके लिए आप यदि चाहें तो इनको सुबह के समय और शाम के समय किसी मैदानी इलाके में छोड़कर चारा खिला सके हैं. या फिर अगर आपके आस-पास मैदानी इलाके नहीं हैं तो आप अपने घर पर ही चारे की ब्यवस्था करके इनको डाल सकते हैं.

बकरी पालन कारोबार से दूध, देशी खाद और मांस को लेकर बकरी पालक बहुत कमाई हो जाती है. और यदि इसके मांस की बात करें तो मार्केट में इसके मांस की कीमत 500 रुपये से लेकर 650 रुपये किलो बिकती है. इसलिए अगर कोई भी इच्छुक किसान या ब्यक्ति बकरी गांव में पालते हैं तो भी desi bakri palan से काफी मोटी पैसा कमा सकते हैं. और इसमें आने वाले खर्चे की बात करें तो आप 5 या 10 छोटी बकरियों को प्रति बकरी 5 हजार रूपये में खरीदकर कर सकते हैं.

बकरी पालन से कमाई

बकरी पालन उद्योग काफी फायदे वाला कारोबार है. इस बिजनेस में लगने वाले लागत की अपेच्छा बकरी पालन से कमाई काफी अधिक होती है. इसके एक बकरे की कीमत उनके वजन के हिसाब से 10000 से लेकर 15000 हजार रुपये होती है. इस व्यवसाय में दूसरा कमाई का कारण यह है की ये एक वर्ष में दो बार बच्चे देतीं हैं. इसलिए अगर बकरी पालन का कारोबार किसान करते हैं तो इससे उनको एक्स्ट्रा इनकम हो सकती है. यह एक ऐसा बिजनेस है जो खेतीबाड़ी के साथ भी बहुत आसानी से किया जा सकता है.

बकरी को खाने में क्या देना चाहिए

अगर आपके आस-पास बकरियों चराने के लिए मैदान है तो आपको इनके खाने के लिए चारे की चिंता नहीं होती है. लेकिन यदि आप घर पर ही बकरियों की पूरी ब्यवस्था करते हैं तो आपको इन्हें खाने में हरी घास, दूब, आम की पत्तियां, महुआ की पत्तियां, खेतों से निकाले गए फसलें, और अरहर, सरसों, चना की भूसी, गेहूं का भूसा ये सब चारे के रूप में दे सकते हैं.

बकरी का वजन कैसे बढ़ाएं

देसी बकरी की कीमत हमेशा महंगी ही होती है. इससे अधिक पैसे कमाने के लिए इनकी वजन भी भरी होनी चाहिए. इसलिए बकरी का बजन बढ़ाने के लिए इनकों सूखे चारा जैसे- गेहूं का भूसा बहुत ही अच्छा मन जाता है. गेहूं के सूखे भूसे में हल्की पानी मिलाकर इसमें गेहूं के आटे के चोकर या चना, अरहर की भूसी गेहूं के कुछ दाने मिलाने से बकरियां इन्हें बहुत चाव से खाती हैं और इससे इनका वजन तेजी से बढ़ता है.

FAQ.

Q1. बकरी पालन में कितना फायदा होता है?

ANS. इस बिजनेस में लगने वाले लागत की अपेच्छा बकरी पालन से कमाई काफी अधिक होती है. इसके एक बकरे की कीमत उनके वजन के हिसाब से 10000 से लेकर 15000 हजार रुपये होती है.

Q2. एक बकरी की आयु कितनी होती है?

ANS. 12 से 15 वर्ष.

Q3. बकरी कितने दिन में बच्चे को जन्म देती है?

ANS. बकरियां 6 महीने में एक बार यानि 1 साल में 2 बार बच्चे को जन्म देती हैं.

Q4. बकरी को बच्चा देने के बाद क्या खिलाए?

ANS. बकरी को बच्चा देने के बाद उसके बच्छे को केवल बकरी की दूध पिलायें और बकरी को 1 सप्ताह तक सुखी चारा खिलाना चाहिए.

Q5. बकरी को गेहूं खिलाने से क्या होता है?

ANS. बकरी को गेहूं खिलाने से दूध बढती है, इनकी आयु बढ़ती है तथा इनका वजन भी बढ़ता है.

इन्हें भी पढ़ें

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version