टमाटर की सभी खतरनाक बीमारी से फसल को कैसे बचाएं

टमाटर का पौधा क्यों सूखता है | टमाटर का पौधा क्यों सूखता है | टमाटर का पौधा सूख रहा है | टमाटर में फल लगने की दवा | टमाटर के पौधे में क्या डालें | टमाटर में मकड़ी की दवा | टमाटर में कीड़ा लगने की दवा | टमाटर की पत्तियों का सिकुड़ना | टमाटर में काला धब्बा रोग

किसान भाइयों यदि आप सर्दियों के सीजन में टमाटर की खेती करते हैं तो आपको भी अनेक तरह के रोगों का सामना करना पड़ता होगा. गर्मियों में की गई टमाटर की खेती में सर्दियों की अपेच्छा बहुत कम रोग लगते हैं. इसलिए अगर आप सर्दियों के मौसम में टमाटर की खेती करते हैं तो आपको इसमें लगने वाले रोगों से बचना चाहिए.

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बताने जा रहे हैं की टमाटर के पौधों को हरा भरा कैसे रखें तथा टमाटर के पौधे की देखभाल कैसे करें. इन सबके बारे में सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहे हैं. हम उम्मीद करते हैं की आपको यह पोस्ट अच्छी लगेगी अगर आपको यह आर्टिकल अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

टमाटर के पौधे की देखभाल
Contents hide

टमाटर के पौधे में लगने वाले रोग

सर्दियों के मौसम में टमाटर की फसल में जो रोग लगते हैं यदि उनका समय रहते प्रबंध न किया जाय तो एक झटके में पूरी फसल बर्बाद हो जाएगी औए आपकी सब मेहनत और लागत डूब जाएगी. सर्दियों के मौसम में निम्न प्रकार के रोग टमाटर के पौधे को नुकसान पहुंचाते हैं- टमाटर के पत्ती का धब्बा, टमाटर में काला दाग बनना, फूलों का गिरना, टमाटर का फटना.

टमाटर के रोग एवं उपचार

टमाटर में पत्ती का धब्बा रोग

टमाटर की फसल में यह रोग तब देखने मिलता है जब वायुमंडल में नमी बढ़ जाती है यानि दिन के समय में भी ठंढ होती है. ऐसे में आप देखेंगे की टमाटर के पत्तियों पर काले-भूरे रंग के दाग दिखाई देती है, और यह रोग लगने से पौधों में प्रकाश शंश्लेषण की क्रिया रूक जाती है और पौधे सूख जाते हैं.

टमाटर में पत्ती का धब्बा रोग का उपचार

पत्ती का धब्बा रोग से टमाटर की पौधे को बचाने के लिए 12 से 15 दिनों के अन्तराल पर बायर कम्पनी के लूना फफूंद नाशक का 15ml/15 लीटर पानी में घोल बनाकर पौधों पर छिड़काव करना चाहिए.

टमाटर में काला धब्बा रोग

सर्दियों में टमाटर के पौधे(tomato plants in winter) में जब अत्यधिक ठण्ड के साथ जब बारिश हो जाती है तो टमाटर की फलों पर काले-काले दानेदार बहुत शक्त दाग बन जाते हैं जिनकी वजह से पौधे की डंठल तथा पत्तियां भी प्रभावित होती हैं. और देखते ही देखते tamatar की फसल का पूरा प्लांट ही सुख जाता है.

टमाटर में काला दाग के उपचार

टमाटर में काला दाग रोग से फसल को बचाने के लिए सर्दियों के मौसम में जब आकाश में बादल दिखाई दें तब मेरिवान या अमिस्टार या कस्टोडिया फफूंद नाशक का छिड़काव कर देना चाहिए. ताकि बारिश होने के बाद इस काला दाग से बचा जा सके.

टमाटर के फूलों का गिरना

टमाटर की खेती में पौधों से फूलों का झड़ना किसानो के लिए एक गंभीर समस्या है. फूल गिरने की वजह से उत्पादन में काफी कमी आ जाती है. टमाटर के पौधे में फूल गिरने की यह समस्या सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी के कारण, अधिक मात्रा में कृषि रसायनों का छिड़काव करने से, अत्यधिक ठंड एवं जलवायु में परिवर्तन होने से होती है.

टमाटर के फूल को झड़ने से कैसे रोकें

टमाटर की पौधे से फूलों को गिरने से रोकने के लिए अत्यधिक ठंड पड़ने पर टमाटर की खेत के कोने में आग जलाकर धुंआ कर देनी चाहिए जिससे यदि अधिक ठण्ड के कारण गिरते हैं तो रूक जायेंगे. तथा इसके अलावा अधिक रसायनों के छिड़काव से बचें तथा पौधों को संतुलित मात्रा में खाद दें और नाइट्रोजन का अधिक उपयोग न करें.

टमाटर के पौधे से फूलों को झड़ने से रोकने के लिए शाइन(Shaine) 8ml/15 लीटर पानी में घोल बनाकर तथा प्लानोफिक्स का उपयोग करना चाहिए. साथ ही समय से खेत की सिंचाई करें.

टमाटर में फलों का फटना

टमाटर में फलों के फटने की यह समस्या अधिक ठंढ के कारण ही होती है. इसके अलावा बारिश के बाद धूप निकलने पर भी टमाटर के फटने की सम्भावना बढ़ जाती है.

टमाटर में फलों को फटने से कैसे रोकें

सर्दियों के मौसम में Tamatar को फटने से रोकने के लिए टमाटर के पौधे की देखभाल करनी बहुत आवश्यक है. बोरान(Boron) 25 ग्राम/15 लीटर पानी घोल बनाकर 7 दिनों के अंतराल पर सिंचाई करें.

FAQ:

Q1. टमाटर में कौन कौन सी खाद डाली जाती है?

ANS. 100 किलो नाइट्रोजन, 60 किलो फास्फेट, 60 किलो पोटाश, कैल्शियम नाइट्रेट.

Q2. टमाटर में फल आने की दवा?

ANS. टमाटर में फल लगने की दवा के लिए शाइन(Shaine) 10ml/15 लीटर पानी में घोल बनाकर तथा संजीवनी 1ml/15 लीटर पानी में घोल बनाकर छिडकाव करना चाहिए. साथ ही समय से खेत की सिंचाई करें.

Q3. टमाटर कौन से महीने में लगाए जाते हैं?

ANS. जुलाई-अगस्त के महीने से लेकर अक्टूबर-नवंबर और जनवरी से अप्रैल तक लगाए जाते हैं.

Q4. टमाटर का पौधा क्यों सूखता है?

ANS. अक्सर देखा जाता है की नरसरी में या मुख्य खेत में रोपाई के बाद Tamatar ke paudhe मुरझाने या सूखने लगते हैं इस रोग से टमाटर की पौधे को बचाने के लिए पौध रोपाई से 1 सप्ताह पहले नर्सरी में पानी देना बंद कर देना चाहिए और बायर के लूना फफंद नाशक का 1ml/litar पानी में घोल बनाकर छिड़काव करें.

Q5. टमाटर का पौधा कितने दिन में फल देने लगता है?

ANS. टमाटर का पौधा 65 से 70 दिन में फल देने लगता है.

Q6. Tamatar के पौधे में पानी कब डालना चाहिए?

ANS. गर्मियों में 2 से 3 दिन के अन्तराल पर तथा सर्दियों में 12 से 15 दिनों के अन्तराल पर और बरसात में मौसम को देखते हुए नमी न होने पर सिंचाई करनी चाहिए.

Q7. टमाटर के पौधे की ग्रोथ कैसे बढ़ाए?

ANS. कैल्शियम नाइट्रेट का प्रयोग करना चाहिए.

Q8. टमाटर में मकड़ी की दवा

ANS. टमाटर में लाल मकड़ी की दवा के लिए ओमाईट का प्रयोग करना चाहिए.

इन्हें भी पढ़ें-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here