वाराणसी, जौनपुर, गेंदा फूल का मंडी भाव today (24 दिसम्बर 2022) | माचिस से भी सस्ते बिक रहे गेंदे की माला जानें कीमत

गेंदा फूल का मंडी भाव today

आज के समय गेंदा की खेती से लागत निकलना भी किसानों के लिए सिरदर्द बन गया है. 15 दिसंबर के बाद खरमास लगते ही गेंदे के फूलों के भाव माचिस से भी सस्ते बिकने लगे हैं. इन दिनों अगर गेंदा फूल का मंडी भाव की बात करें तो .50 पैसे से लेकर 2 रुपये प्रति गजरा के भाव से बिक रहे हैं.

गेंदा फूल का मंडी भाव today

शादी-विवाह के शुभ अवसर, नवरात्रि, दशहरा, दीपावली के मौके पर गेंदा के गजरा की मंडी भाव की बात की जाय तो इन शुभ अवसरों पर इनके दाम बहुत महंगे रहते हैं. यदि इन शुभ त्योहारों पर इनके प्रति गजरा की बार करें तो 20 से लेकर 40 रुपये या इससे भी महंगे बिकते हैं.

परन्तु यही गेंदा का गजरा आज 15 दिसंबर के बाद से 20 जनवरी तक .50 पैसे से लेकर 2 रुपये प्रति गजरा के भाव से बिकते हैं. और आज 24 दिसम्बर 2022 को वाराणसी की मलदहिया फूल मंडी और जौनपुर की चाचकपुर फूल मंडी में प्रति गजरा की बात करें तो 0.25 पैसे से लेकर 1.50 रुपये के भाव से बीके हैं.

1 गजरा बनाने में 2 रुपये लगती है लागत

किसानों का कहना है की गेंदे के फूलों की 1 माला यानि गजरा बनाने में 2 रुपये की लागत आती है. गेंदा किसानों से पूछा गया तो उन्होंने बताया की 1 गेंदे की गजरा बनाने के लिए मजदूर 1 रुपये लेते हैं और यदि मजदूर फूलों की तुड़ाई करके गजरा बनाते हैं तो 2 से 2.5 रुपये प्रति गजरा के हिसाब से चार्ज करते हैं. जबकि इसमें धागे की लागत अलग से लगती है.

खेतों में खर्च की गई लागत भी निकलना हुआ मुश्किल

जैसा की गेंदा की खेती करने वाले किसानों ने कहा की गेंदे के फूलों की 1 माला यानि गजरा बनाने में 2 रुपये की लागत आती है. और मंडी जाने में लगभग 100 से 200 रुपये किराया अलग से लगता है. मतलब अगर 5 रुपते प्रति गजरा के हिसाब से किसानों को भाव मिलेगा तब जाकर कहीं किसानों को प्रति 100 गजरे पर 100 रुपये का मुनाफा होगा.

लेकिन किसानों ने बताया की इन सर्दियों के सीजन में गेंदे के पौधे को कोहरे और पाले से बचाने के लिए प्रत्येक सप्ताह में 200 से 250 रुपये प्रति टंकी के हिसाब से दवा का छिड़काव करते हैं. ऐसे में देखा जाय तो कुल मिलाकर किसानों के घर की पूंजी भी खेत में लग रही है.

क्यों बिक रहे हैं इतने सस्ते फूलों की माला

किसानों ने कहा की 15 दिसंबर से लेकर 16 जनवरी तक खरमास चलता है. उनका कहना हैं की इन दिनों शुभ कार्य नहीं किये जाते हैं जिस वजह से फूलों की डिमांड नहीं रहती है. लेकिन 16 जनवरी के बाद शादी के शुभ सीजन की शुरुआत होने लगती है लेकिन फूलों के भाव सुधरने में कुछ समय लगते हैं.

इन्हें भी पढ़े-

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here