छोटे किसानों के लिए आधुनिक कृषि यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है | Adhunik krishi yantra

छोटे किसानों के लिए कृषि यंत्र | आधुनिक कृषि यंत्र | आधुनिक यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है | कृषि यंत्र फोटो विथ नाम | आधुनिक यंत्र जिसका मोबाइल में उपयोग होता है | कृषि के औजार कौन कौन से होते हैं | आधुनिक खेती कैसे की जाए

किसान खेतों में फसलों की बुआई के लिए कृषि की दुकानों से महंगे बीज खरीदकर लाते हैं. ऐसे में उनकी यह कोशिश रहती है की बीजों का जमाव अच्छे से हो, इसलिए किसान एकसमान गहराई में समान रूप बीजों की बुआई के लिए आधुनिक कृषि यंत्रों का उपयोग करते है.

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको बीजों की बुआई करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण आधुनिक कृषि यंत्र के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं, जो किसान की मेहनत लागत और क्ष्रम को कम करने में सहायक होते हैं. हम उम्मीद करते हैं की आपको यह जानकारी अच्छी लगेगी. यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगे तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें.

आधुनिक कृषि यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है

छोटे किसानों के लिए आधुनिक कृषि यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है | Adhunik krishi yantra
  • खुरपी
  • कुदाल
  • कल्टीवेटर
  • सीड ड्रिल
  • रोटावेटर
  • हैपी सीडर

बीजों की बुआई के लिए खुरपी का उपयोग

खुरपी का उपयोग किसान प्राचीन काल से करते चला आ रहा है, आज के किसानों के पूर्वज अपने खेतों में खुरपी का उपयोग बीजों की बुआई करने तथा खेतो से खरपतवार निकलने के लिए करते थे. पुराने जमाने से लेकर आज भी खुरपी का उपयोग किसान करते चले आ रहे है.

आधुनिक खेती के तरीके से बीज की बुआई करने के बाद जब बीज अंकुरित होता है, तो देखा जाता है कि काफी जगह बीज नहीं जमते हैं. तो ऐसे स्थानों पर किसान खुरपी की सहायता से बीजों की बुआई करते हैं.

बीजों की बुआई के लिए कुदाल का उपयोग

खुरपी की तरह कुदाली भी बहुत पुराने जमाने से किसान उपयोग करते चले आ रहे हैं. प्राचीनकाल मे जब aadhunik yantra नहीं हुआ करती थीं तब किसान देशी हल का उपयोग किया करते थे. देशीहल से फसलों की बुआई करने के बाद खेत के चारो ओर बचे हुए कोनों की कुदाली से गुड़ाई करके बीजों की बुआई किया करते थे.

आज भी गाँव मे रहने वाले बहुत से छोटे की जिनके खेत मे ट्रैक्टर जाने के लिए रास्ता नहीं होता है ऐसे लोग कुदाल से पहले खेतों की गुड़ाई करते हैं, उसके बाद कुदाली से ही लाइन बनाकर एकसमान गहराई में एकसमान दूरी पर बीजों की बुआई जैसे- bajra ki kheti, गेहूं, चना, मसूर, जौ, मटर इत्यादि करते है.

बीजों की बुआई के लिए कल्टीवेटर का उपयोग

यह ट्रैक्टर से चलाया जाता है कल्टीवेटर में देशीहल की तरह 9 हल होते हैं जिसे बहुत से किसान नौफार भी कहते हैं. आज के इस आधुनिक युग में लगभग सभी किसान कल्टीवेटर से ही बीजों की बुआई करते हैं. इस कृषि यंत्र से बीजों की बुआई न तो एकसमान gehrayee में होती है, और न ही एकसमान दूरी पर.

बीज बोने के लिए सीड ड्रिल मशीन की जानकारी

बड़े किसानों के लिए पारम्परिक तरीके से बीजों की बुवाई करना बहुत कठिन होता जा रहा है. और इन बड़े कास्तकारों के लिए हाथों से बीज की बुवाई करने में जैसे- खुरपी, कुदाली, देशीहल आदि में काफी समय और मजदूर अधिक लगते हैं. इसलिए अब किसान सीड ड्रिल कृषि यंत्र मशीन से फसलों की बुआई करते हैं.

छोटे किसानों के लिए आधुनिक कृषि यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है | Adhunik krishi yantra

यह कृषि यंत्र ट्रैक्टर में लगा कर चलाया जाता है. इससे सभी तरह के फसलों की बुवाई आसानी से की जा सकती है. यह एक तरह का आधुनिक कृषि यंत्र है, इससे बहोत ही कम समय में समान गहराई में एकसमान दूरी पर बीज की बुवाई की जाती है.

इस सीड ड्रिल मशीन की सबसे अच्छी खासियत यह है कि इसमें अपनी आवश्यकता के अनुसार लाइन से लाइन की दूरी तथा बीज से बीज की दूरी एवं बीज की गहराई अपने हिसाब से तय किया जा सकता है.

रोटावेटर

रोटावेटर एक ऐसी आधुनिक कृषि यंत्र है जो ट्रेक्टर कृषि यंत्र के पीछे लगाकर संचालित किया जाता है. इस यंत्र का उपयोग मुख्य रूप से मिट्टी के ढ़ेले को तोड़ने और अधिक घास वाली खेतों की जुताई करने के लिए किया जाता है. इस मशीन से लगभग 125 से 1500 मिमी की गहराई तक खेत की जुताई की जाती हैं. इस रोटावेटर यन्त्र से किसान गेहूं, मक्का, मुंग, अरहर, सरसों, चना, उर्द इत्यादि फसलों की बुआई करते हैं. इसके अलावा खेतों में बचे फसलों के अवशेष की जुताई भी की जाती है.

हैपी सीडर

हैपी सीडर कृषि यंत्र मशीन का उपयोग धान की कटाई करने के बाद गेहूं की बुवाई करने के काम आता है. इस मशीन में जीरोटिल सीड कम फर्टिलाइजर मशीन के सभी गुण हैं. इस यन्त्र से खेतों में बचे फसल के डंठल आदि मिट्टी में दबा दिए जाते हैं तो सड़कर खाद बन जाते हैं.

FAQ:

Q. आधुनिक कृषि यंत्र जिसका बुवाई में उपयोग होता है?

ANS. खुरपी, कुदाल, कल्टीवेटर, सीड ड्रिल.

Q. कृषि यंत्र कितने प्रकार के हैं?

ANS. रोटावेटर, मिट्टी पलटने वाला तवेदार हैरो, ट्रैक्टर, पावर टिलर, देशी हल, पावर वीडर इत्यादि.

अन्य पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here